मुंबई, मिड डे। प्रतिष्ठित अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस (Ahmedabad Mumbai Tejas Express) के पहले सफर में उत्साह के बावजूद अव्यवस्थाएं नजर आईं। यार्ड में डेढ़ साल से खड़े पुराने कोचों के इस्तेमाल के चलते भी कुछ यात्रियों को ट्रेन में परेशानियों का सामना करना पड़ा।

अहमदाबाद से मुंबई के सफर के दौरान कोच ई-1 में एक वरिष्ठ नागरिक पर ट्यूबलाइट का पैनल गिर गया। इसी तरह वडोदरा स्टेशन पर ट्रेन के चलते ही दरवाजे बंद होने पर कुछ कुली भी ट्रेन में रह गए।

कोच में कई टीवी स्क्रीन खराब                              

वहीं, एक अन्य यात्री ने बताया कि यात्रा तो आनंददायी थी, लेकिन कुछ छोटी-छोटी खामियां भी नजर आईं। महंगी एक्जीक्यूटिव कोच में कई टीवी स्क्रीन खराब दिखे। इन दो कोचों में टेबल के पीछे की ट्रायल पर भी ध्यान देने की जरूरत है। पूरी यात्रा के दौरान कुछ तकनीकी खामी के कारण वाई-फाई भी काम नहीं कर रहा था।

अगस्त, 2018 में किया गया था कोचों का निर्माण 

आइआरसीटीसी की निदेशक (पर्यटन और मार्केटिंग) रजनी हसीजा ने बताया कि उन्हें सभी शिकायतों की जानकारी मिल चुकी है। इन सभी शिकायतों को दूर किया जाएगा। ट्रेन डेढ़ साल से खड़ी थी। उसे तैयार किया गया है, लेकिन कुछ चूक हो सकती है। संबंधित विभागों को इन खामियों को वापसी की यात्रा शुरू होने से पहले दूर करने के लिए कहा गया है। मिड डे के अनुसार इन कोचों का निर्माण अगस्त, 2018 में किया गया था।

होस्टेस की पोशाक में किया जाएगा फेर-बदल

एमएनएस कार्यकर्ताओं के विरोध के चलते वापसी में ट्रेन की होस्टेस की पोशाक में भी मामूली फेर-बदल किया जाएगा। दरअसल यात्रा में उन्होंने गुजराती साड़ी पहनी है। जिस पर आपत्ति के बाद उन्हें मराठी शैली की कैप दी गई है, जो वापसी में वह पहनकर आएंगी। ट्रेड यूनियनों ने मुंबई के रेलवे स्टेशन पर रेलवे के निजीकरण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस