नई दिल्ली, एएनआइ। भारत समेत दुनियाभर में ओमिक्रोन वैरिएंट तेजी से फैल रहा है। कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र और दिल्ली समेत 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में नए वैरिएंट के 77 मामले मिले हैं। वहीं, दिल्ली में ओमिक्रोन वैरिएंट के चार नए मामले मिलने के बाद कुल संक्रितों की संक्या 10 हो गई है। इससे पहले केरल और महाराष्ट्र में नए वैरिएंट के चार-चार मामले दर्ज किए गए थे। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में स्वास्थ्य विभाग ने ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए मेगा सैंपलिंग अभियान शुरू किया है।

दिल्ली, राजस्थान, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना और गुजरात सहित कई राज्यों ने नए कोरोना संस्करण के मामले दर्ज किए हैं। इसमें महाराष्‍ट्र में 32 मामले, राजस्थान में 17, दिल्ली में 10, केरल में 5, गुजरात में 4, कर्नाटक में 3, तेलंगाना में 2, आंध्र प्रदेश में 1, तमिलनाडू में 1, चंडीगढ़ में 1 और पश्चिम बंगाल में 1 केस मिला है।

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज ने बताया कि केरल में चार नए मामलों के बाद नए वैरिएंट से संक्रमित मरिजों की संख्या पांच हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, 'कुल चार मामलों में से दो वे लोग हैं जो कोच्चि में सामने आए पहले मरीज के संपर्क में आए थे। इसमें तीसरा व्यक्ति एर्नाकुलम का है। वह कांगो से आया था और चौथा मरीज तिरुवनंतपुरम में मिला है, जो यूके से लौटा था। उन्होंने आगे कहा कि सभी मरीजों की हालत स्थिर है।

महाराष्ट्र में भी ओमिक्रोन के चार संक्रमित पाए गए हैं। इसमें दो उस्मानाबाद में और एक-एक मुंबई और बुलढाणा से है। उस्मानाबाद का मरीज शारजाह से लौटा था और दूसरा मरीज उसका उच्च जोखिम वाला संपर्क है। बुलढाणा का मरीज दुबई से लौटा था, जबकि मुंबई का मरीज आयरलैंड की यात्रा से लौटा था।

वहीं, उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में स्वास्थ्य विभाग कोरोना के नए वेरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए मेगा सैंपलिंग अभियान का आयोजन कर रही है। यह अभियान आने वाले दिनों में अस्पताल के कर्मचारियों, सरकारी अधिकारियों, स्कूली छात्रों और शिक्षकों पर केंद्रित होगा। मुरादाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एमसी गर्ग ने बताया कि यह अभियान 15 दिसंबर से शुरू होकर अगले 10 दिनों तक चलेगा। अभियान के पहले दिन हम टेम्पो, बस, टैक्सी और ट्रक ड्राइवरों के नमूने ले रहे हैं।

बता दें के कोरोना वायरस का नया संस्करण पहली बार 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में मिला था। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, पहला बी.1.1.1.529 संक्रमण इस साल 9 नवंबर को एकत्र किए गए नमूने से था। 26 नवंबर को डब्ल्यूएचओ ने नए कोरोना वैरिएंट को B.1.1.529 नाम दिया था, जिसे दक्षिण अफ्रीका में 'ओमिक्रोन' नाम दिया गया। डब्ल्यूएचओ ने ओमिक्रोन को 'वेरिएंट आफ कंसर्न' के रूप में वर्गीकृत किया है।

Edited By: Manish Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट