भुवनेश्‍वर (एएनआइ)। पश्‍चिम बंगाल के बाद अब ओडिशा में क्राइम ब्रांच की ओर से मोमो चैलेंज को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। एडवाइजरी में अभिभावकों व शिक्षकों से बच्चों को इस गेम से दूर रहने की अपील की गई है। बतादें कि ब्लू व्हेल की तरह इस गेम में भी लोगों विशेषकर बच्‍चों को आत्‍महत्‍या के लिए उकसाया जाता है।

बढ़ते खतरे को देखते हुए इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने भी एडवाइजरी जारी की है। पश्चिम बंगाल सीआइडी ने सार्वजनिक नोटिस जारी करके लोगों को सलाह दी कि अगर उन्हें मोमो चैलेंज गेम खेलने का निमंत्रण मिलता है तो वह पुलिस से संपर्क करें।

ओडिशा पुलिस की एडवाइजरी में कहा गया है, ‘सोशल मीडिया पर मोमो चैलेंज नामक गेम कुछ आपराधिक प्रवृति के लोगों द्वारा वायरल किया जा रहा है। यह गेम लोगों विशेषकर बच्‍चों को फाइनल टास्‍क में आत्‍महत्‍या के लिए उकसाता है। दुनिया के कई कोनों में निर्दोष इसका शिकार हो रहे हैं। अभिभावकों व शिक्षकों को इसके प्रति जागरुक और सचेत होने और घातक गेम से बचाने की जरूरत है।’

एडवाइजरी में मीडिया को भी चेताया गया है कि ऐसी खबरों को प्रकाशित न करें और न बिना किसी उचित जांच के किसी मौत या आत्‍महत्‍या को मोमो चैलेंज से जोड़ें। साथ ही अभिभावकों को सलाह दी गई है कि वे बच्‍चों के ऑनलाइन एक्‍टीविटी पर नजर रखें जैसे कहीं उनके बच्‍चे ऑनलाइन अधिक समय तो नहीं बीता रहे और पकड़े जाने पर स्‍क्रीन बदल लें या फिर गुस्‍सा हो जाएं और फिर उनके डिवाइस पर नए नए फोन नंबर व इमेल कंटैक्‍ट दिखे।

एडवाइजरी में कहा गया है, ‘गेम के पार्ट के तौर पर, अज्ञात नंबर से वॉट्सएप इंविटेशन आता है जिसमें डरावने चेहरेवाली लड़की का प्रोफाइल है, इसकी बड़ी आंखें निकली हुई और चौड़ा सा मुंह दिखता है।’ जबकि मीडिया रिपोर्ट की माने तो मोमो जापानी कलाकार द्वारा बनाई गई 'मदर बर्ड' की मूर्ति के अलावा कुछ भी नहीं है और टोक्यो में वेनिला डरावनी कला गैलरी में प्रदर्शित की गई है।

कुल मिलाकर अगर आपके फोन पर किसी अंजान नंबर से मैसेज आए, तो सावधान हो जाइए। ये मैसेज आपकी जान के लिए खतरा हो सकता है।

Posted By: Monika Minal