भुवनेश्वर, एनएनआइ। उड़ीसा के एक गांव में लोगों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामिणों को पानी के लिए मीलों दूर पैदल चलना पड़ा रहा, तब जाकर उन्हें एक तालाब से पानी प्राप्त हो पा रहा है। मयूरभंज जिले के पातिहिन्जा गांव की यह समस्या है। निवासियों को पानी के संकट से जूझना पड़ रहा है।

हैंडपंप भी नहीं कर रहे हैं काम

एक ग्रामीण ने बताया कि गांव में तीन हैंडपंप क्रम से बाहर हैं। जबकि एक में पानी नहीं है, बाकी दो काम नहीं कर रहे हैं। हमें पानी लाने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। मानव अधिकार के एक वकील, श्रीमाथी माझी ने कहा कि ग्रामीण एक तालाब से पानी लाने के लिए लंबी कतारों में खड़े हैं।

पंचायत अधिकारी ने दिए निर्देश

ग्रामीणों द्वारा सामना किए गए संकट को स्वीकार करते हुए कहा कि पंचायत अधिकारी आर के महापात्र ने कहा कि दो मैकेनिकों को हैंड पंपों की मरम्मत के लिए निर्देशित किया गया है।

पानी देने का दिया आश्वासन 

उन्होंने कहा कि पिछले हफ्ते हमें सूचित किया गया था कि उनमें से एक भी ठीक से काम नहीं कर रहा है। मैंने इसकी मरम्मत के लिए दो मैकेनिकों को निर्देशित किया है। हमने आमतौर पर जांच के लिए 2  सप्ताह का समय लिया और फिर पानी उपलब्ध कराने के लिए इसकी मरम्मत की का आश्वासन दिया है। 

पिछले दिनों दिल्ली रहा पानी के लिए सुर्खियों में 

बता दें कि देशभर में पानी की किल्लत को लेकर समय-समय पर खबरे आती रहती हैं। इससे पहले दिल्ली में पानी की गुणवत्ता को लेकर भी रिपोर्ट पेश की गई थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि दिल्ली के कई इलाकों में पानी की गुणवत्ता खराब हो है। इसको लेकर तमाम मंत्रियों ने बयानबाजी की। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विपक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि दिल्ली में पानी की गुणवत्ता साफ है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस