मुंबई, प्रेट्र। साइरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटाने के बाद से टाटा ग्रुप में चल रहा घमासान कम होने का नाम नहीं ले रहा। सोमवार को उद्योगपति नुस्ली वाडिया ने टाटा संस को मानहानि का नोटिस भेजा है। उन्होंने टाटा संस पर उनकी छवि खराब करने का आरोप लगाया है। वाडिया ग्रुप के चेयरमैन नुस्ली टाटा ग्रुप की कुछ कंपनियों के इंडिपेंडेंट डायरेक्टर हैं।

उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप तथ्यहीन, झूठे और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने वाले हैं। टाटा संस सभी आरोप तुरंत वापस ले। उधर टाटा संस का कहना है कि कंपनी उनके नोटिस का उचित जवाब देगी।

नुस्ली ने यह कार्रवाई टाटा संस द्वारा टाटा स्टील के बोर्ड को भेजे उस नोटिस के बाद की है, जिसमें तमाम आरोप लगाते हुए होल्डिंग कंपनी ने वाडिया को इंडिपेंडेंट डायरेक्टर पद से हटाने की मांग की थी। नुस्ली टाटा स्टील के अलावा टाटा केमिकल्स और टाटा मोटर्स में लंबे समय से इंडिपेंडेंट डायरेक्टर हैं। टाटा संस ने इस आधार पर उन्हें टाटा स्टील के बोर्ड से निकालने की मांग की थी कि वह साइरस मिस्त्री का समर्थन कर रहे हैं।

पढ़ें- प्रिटी-नेस केस में धमका अंडरव‌र्ल्ड, नुस्ली वाडिया को मिली धमकी

ग्रुप की होल्डिंग कंपनी ने उनको हटाने के लिए तीन कंपनियों को ईजीएम बुलाने को नोटिस भी जारी किया है। नुस्ली ने कहा कि टाटा का यह कदम उन्हें इंडियन होटल्स, टाटा केमिकल्स, टाटा मोटर्स और टाटा स्टील के बोर्डों से हटाने के लिए है।

पढ़ें- साइरस व नुस्ली को चलता करो : टाटा संस

Edited By: Rajesh Kumar