चेन्‍नई, आइएएनएस। अभिनेता से राजनेता बने रजनी‍कांत के बारे में ऐसा कहा जा रहा है कि उनकी पार्टी को भारतीय जनता पार्टी का समर्थन मिल रहा है। हालांकि रजनीकांत ने अभी तक अपनी पार्टी को लॉन्‍च नहीं किया है। लेकिन इससे पहले ही अगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए तरह-तरफ की अटकलें लगाई जा रही हैं। रजनीकांत ने इन कयासों को दरकिनार करते हुए कहा कि उनके पीछे भाजपा नहीं, बल्कि भगवान और लोगों का प्‍यार है।

रजनीकांत तीन दिन के आध्यात्मिक दौरे से लौटने के बाद मीडिया से मुखातिब होने पर बोले कि वह आध्यात्मिक राजनीति के दर्शन का पालन करेंगे और उनके पीछे भाजपा नहीं, सिर्फ भगवान और जनता का साथ है। साथ ही उन्‍होंने कहा राज्य सरकार को कावेरी प्रबंधन बोर्ड की स्थापना के लिए केंद्र सरकार पर अतिरिक्त दबाव डालना चाहिए।

रजनीकांत के आध्यात्मिक दौरे के दौरान कुछ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से मुलाकात करने और उनके पक्ष में समर्थन के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने ऐसी खबरों को अफवाह बताया। उन्‍होंने कहा, 'केवल भगवान और जनता उसके पीछे है, भाजपा नहीं।'

राम राज्य रथ यात्रा ने मंगलवार को तमिलनाडु में प्रवेश किया। इस पर उन्होंने कहा कि राज्य धर्मनिरपेक्ष है और सरकार को इसके लिए सुरक्षा प्रदान करनी चाहिए और किसी भी तरह की हिंसा की रोकथाम करनी चाहिए।

Posted By: Tilak Raj