नई दिल्ली, एएनआइ। देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बीच इसे बढ़ाए जाने की खबरों पर कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने हैरानी जताई है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि लॉकडाउन को बढ़ाने का कोई विचार नहीं है।

कोरोना वायरस के प्रसार से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लागू किया है। इसके बीच कई तरह की अफवाह सामने आ रही है कि सरकार 21 दिनों के बाद लॉकडाउन को फिर आगे बढ़ाएगी। 

राजीव गौबा ने सोमवार को लॉकडाउन बढ़ाए जाने वाली रिपोर्टों को खारिज करते हुए कहा, 'मैं इस तरह की रिपोर्टों को देखकर हैरान हूं। लॉकडाउन को बढ़ाने की कोई योजना नहीं है।'

केरल-महाराष्ट्र में ज्यादा मामले                       

वहीं, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। भारत में अब तक कोरोना महामारी से 29 सलोगों की जान जा चुकी है, जकबि 1100 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। महाराष्ट्र और केरल में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं।

वायरस से जंग जीत चुके मरीजों से बात

देश में कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के दौरान लॉकडाउन की वजह से लोगों को हो रही तकलीफ के लिए क्षमा मांगी। इस दौरान पीएम ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और कोरोना वायरस से जंग जीत चुके मरीजों से भी बात की।

क्या है लॉकडाउन

बता दें कि लॉकडाउन एक तरह की आपदा व्यवस्था है जो किसी आपदा या महामारी के समय सरकारी तौर पर लागू की जाती है। ऐसी स्थिति में दवा और अनाज जैसी जरूरी चीजों को लेने के लिए बाहर निकलने की अनुमति होती है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस