नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। भ्रष्टाचार के खिलाफ अब तक कोई बड़ा कदम न उठाए जाने को लेकर आम आदमी पार्टी के खिलाफ माहौल तैयार करने में लगी भाजपा और योगगुरु बाबा रामदेव को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार तथ्य जुटा रही है, इसके बाद न तो पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को बख्शा जाएगा और ना ही भाजपा के किसी नेता को।

रविवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने जा रहे केजरीवाल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं होगा। कार्रवाई सबके खिलाफ होगी, बेशक दोषी उनकी पार्टी का ही क्यों न हो।

पढ़ें: लोकसभा चुनाव लड़ने से केजरीवाल का इन्कार

गौरतलब है कि भाजपा लगातार आरोप लगा रही है कि दिल्ली में सरकार बनाने में मददगार पार्टी कांग्रेस के बाहर से समर्थन के एवज में केजरीवाल ने उनके नेताओं के खिलाफ कार्रवाई न करने का भरोसा दिया और इसी वजह से दोनों के बीच गठबंधन हुआ है। यही आरोप कभी भ्रष्टाचार के मुद्दे पर मंच साझा कर चुके रामदेव ने भी अरविंद केजरीवाल पर लगाए हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर