राज्य ब्यूरो, जम्मू। जन्नत-ए-कश्मीर की आबोहवा वाकई बदल रही है। घाटी की फिजाओं में बम धमाकों के बजाए अब गीतों की मिठास और लाइट-कैमरा-एक्शन की आवाज गूंज रही है। राज्य के पुनर्गठन और अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद यूं तो यहां कई फिल्मों की शूटिंग हुई है, लेकिन अनुच्छेद 370 पर आधारित फिल्म 'कश्मीर : द फाइनल रिजॉल्यूशन' अगले साल 26 जनवरी को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज होगी। इसकी 90 फीसद शूटिंग पूरी हो चुकी है और अंतिम शेड्यूल ही शेष रह गया है। इसका पहला गाना 'छुई मुबारक..' (तुम्हे मुबराक) हाल ही में जम्मू में आयोजित एक समारोह में लांच किया गया था।

5 अगस्त के बाद जम्मू कश्मीर और लद्दाख में कई फिल्मों की शूटिंग हो रही है। लद्दाख के कारगिल में फिल्म शेरशाह की शूटिंग हुई थी, जिसमें मुख्य भूमिका में अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा थे। कश्मीर के सोनमर्ग व गुलमर्ग में दक्षिण भारत की भी कई फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है।

एटलांटिक फिल्म्स प्रोडक्शन हाउस बैनर तले बन रही 'कश्मीर : द फाइनल रिजॉल्यूशन' के निर्देशक मुंबई के युवराज कुमार हैं। मुख्य अभिनेत्री की भूमिका अमेरिका में जा बसीं कश्मीरी पंडित रिप्पी कौल निभा रही हैं। वह एक कश्मीरी एक्टिविस्ट का रोल कर रही हैं, जो कश्मीरियत की खूबसूरती और उसकी भावनाओं पर बात करती हैं। फिल्म की शूटिंग जम्मू और कश्मीर में हुई है और 90 फीसद कलाकार राज्य के हैं।

जम्मू-कश्मीर स्विट्जरलैंड की तरह ही खूबसूरत

फिल्म की कहानी अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के मुद्दे के इर्द-गिर्द ही घूमती है। निर्देशक युवराज कुमार ने कहा कि मैं लंबे समय से कश्मीर पर रिसर्च कर रहा था। कश्मीर के कल्चर और हालात पर फिल्म बनाना चाहता था। इस फिल्म में कश्मीर का इतिहास दिखाने की कोशिश की गई है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद बॉलीवुड भी कश्मीर में शूटिंग को लेकर दिलचस्पी लेगा। जम्मू-कश्मीर स्विट्जरलैंड की तरह ही खूबसूरत है।

सभी ने सहयोग किया

फिल्म में खुद एक केंद्रीय भूमिका निभा रहे युवराज ने कहा कि हमें जम्मू कश्मीर में शूटिंग के दौरान कोई दिक्कत नहीं हुई। सभी ने सहयोग किया है। फिल्म का जो थोड़ा बहुत हिस्सा बचा है, उसकी शूटिंग की तैयारी है। स्थानीय प्रशासन से इजाजत मिलते ही काम पूरा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि हमने कश्मीरी और हिंदी भाषा का एक फ्यूजन गीत छुई मुबारक (तुम्हे मुबराक) गत दिनों लांच किया था। यह यू-ट्यूब पर उपलब्ध है। फिल्म का संगीत नीरज पंडित ने दिया है।

फिल्म अनुच्छेद 370 हटाने के लाभों से रूबरू कराएगी

फिल्म निर्देशक ने कहा कि मैं अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करता हूं। यह जम्मू कश्मीर के विकास में एक बड़ी बाधा था। फिल्म कश्मीर में लोगों को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले के लाभों से अवगत कराएगी, उन्हें इसके बारे में समझाएगी। उन्होंने कहा कि हमने 26 जनवरी को फिल्म रिलीज करने की योजना बनाई है। देश-विदेश में होने वाले सभी प्रमुख अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में भी इसे प्रदर्शित करने का फैसला किया है। अभिनेत्री रिप्पी कौल ने कहा, मैं अनुच्छेद 370 हटाए जाने से बहुत खुश हूं। हमारी फिल्म शांति, सद्भाव और भाईचारे का संदेश देती है।

जम्मू कश्मीर के लोग कहेंगे यह हमारी कहानी

फिल्म में सह अभिनेता ऋतिक कौल ने कहा कि अनुच्छेद 370 के नाम पर सत्ता में बैठे लोगों ने बीते 70 सालों के दौरान जनता को मूर्ख बनाया है। जब यह फिल्म प्रदर्शित होगी तो जम्मू कश्मीर के लोग इसे देखकर कहेंगे कि यह उनकी अपनी कहानी है।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस