नई दिल्ली। पठानकोट हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की पेरिस में गुप्त बैठक की मीडिया खबर को निराधार बताते हुए सरकार ने कहा कि ऐसी कोई बैठक दोनों देशों के बीच हमले के बाद नहीं की गई है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट करते हुए लिखा- “हम दोनों देशों के बीच बैठक की खबर को तब भी इनकार कर रहे थे और अब भी कर रहे हैं।

विकास स्वरूप उस सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें मीडिया की रिपोर्ट में ये बताया गया था कि पठानकोट हमले के बाद जनवरी के दूसरे हफ्ते भारत और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल नासिर खान जांजुआ आपस में मिले थे।

हालांकि, स्वरूप ने कहा कि दोनों देशों के पठानकोट हमले की जांच को लेकर अक्सर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच बातचीत होती रहती है।

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान ने फिर दिया धोखा, अलगाववादियों से कर रहा है बात

इससे पहले एक दैनिक अखबार में ये खबर छपी थी कि फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बतौर मुख्य अतिथि गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली आने से पहले उनसे मुलाकात करने पेरिस गए अजीत डोभाल ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर खान जांजुआ के साथ जनवरी के दूसरे हफ्त में दूसरी गुप्त बैठक की।

उसमें आगे कहा गया कि पेरिस में ये बैठक पठानकोट के एयरबेस पर 2 जनवरी को हुए हमले के कुछ ही दिन बाद हुआ जिसके पीछे जैश-ए-मोहम्मद का हाथ था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021