नई दिल्‍ली, एजेंसी। भरतीय सीमा पर सुरक्षा बलों द्वारा ईद पर्व बहुत सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाया जाता है। इस दिन भारतीय सीमा सुरक्षा बल की ओर से पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश के सुरक्षा बलों के साथ मिठाईयों का आदान-प्रदान किया जाता है। अब यह एक रश्‍म बन गई है। हालांकि, इस बार ईद के पर्व पर पाकिस्‍तान सुरक्षा बलों की इस रश्‍म के प्रति कोई दिलचस्‍पी नहीं दिखी। उधर, भारतीय सीमा सुरक्षा बल ने बांग्‍लादेश में अपने समकक्ष जवानों के साथ इस पर्व को साझा किया। 

ईद पर्व पर दिखी पाकिस्‍तान की कटुता 

भारत और पाकिस्‍तान के तनावपूर्ण संबंधों के कारण दोनों देशों की सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और उसके पाकिस्तानी समकक्ष पाकिस्तान रेंजर्स के बीच ईद में प्रचलित मिठाइयों का आदान-प्रदान नहीं हुआ। अधिकारियों ने कहा कि पश्चिमी सीमा पर सीमा पार आतंकवाद की घटनाएं सामान्य रूप से जारी हैं, इसलिए, जम्मू से गुजरात तक भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर किसी भी स्थान पर मिठाई का आदान-प्रदान नहीं हुआ। अधिकारियों ने कहा, पिछले साल दिवाली (1 दिसंबर) और गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के दौरान इस रश्‍म को आगे बढ़ाने का प्रयास किया गया था, लेकिन पाकिस्‍तान की ओर से कोई सकारात्‍मक जवाब नहीं आया।

बांग्‍लादेश ने बढ़ाया दोस्‍ती का हाथ 

हालांकि, भारतीय सुरक्षा बलों ने पूर्वी मोर्चे के साथ अपने बांग्लादेशी समकक्ष 'बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश' (BGB) के साथ मिठाई का आदान-प्रदान किया। भारत और बांग्लादेश 4,096 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करते हैं। बीएसएफ और बीजीबी के बीच बहुत ही सौहार्दपूर्ण संबंध हैं। दोनों देश एक समान संस्कृति, परंपराओं और त्योहारों को साझा करते हैं। बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि दोनों देशों की सीमा-सुरक्षा बलों के बीच गर्मजोशी और ईद के दौरान त्योहारों की खुशी को साझा करते हैं। यह सीमांत भारत-बांग्लादेश सीमा के 903 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और इसका मुख्यालय कोलकाता में है। इन दौरान बीएसएफ ने अपने बीजीबी साथियों को शुभकामनाएं और अच्छे स्वास्थ्य की कामनाएं देते हुए आगे बेहतर भविष्य की उम्मीद के साथ जोड़ा। 

 

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस