शत्रुघ्न शर्मा, अहमदाबाद। जम्मू एवं कश्मीर के कठुआ की तरह गुजरात के सूरत में भी नौ साल की एक मासूम को एक सप्ताह तक बंधक बनाकर दुष्कर्म किया और उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने आरोपियों की पहचान बताने वाले को 20 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। इस सनसनीखेज घटना से स्थानीय नागरिकों में भारी रोष है। सूरत, अहमदाबाद, वडोदरा व राजकोट आदि शहरों में कैंडल मार्च निकाला गया है।

सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने रविवार को पत्रकारों को बताया कि आठ दिन पहले शहर के पांडेसरा में नौ वर्ष की जिस मासूम लड़की का शव मिला है उसकी, उसके माता-पिता तथा अपराधियों की पहचान बताने वाले को 20 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा। अनुमान है कि पीडि़ता गुजरात से बाहर की है। पुलिस का मानना है कि अपराधियों ने सूरत से बाहर कहीं लड़की को करीब एक सप्ताह तक बंधक बनाकर रखा और उसके साथ दुष्कर्म किया और शारीरिक प्रताड़ना दी। पीडि़ता के शरीर पर 86 घाव पाए गए हैं।

पुलिस आयुक्त शर्मा ने बताया कि लड़की की हत्या गला दबाकर की गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि हत्या से पहले उसके साथ कई दिनों तक दुष्कर्म किया गया है। शर्मा ने कहा कि अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस ने कहा है कि पीडि़ता, उसके माता-पिता और अपराधियों के संबंध में जानकारी देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा।

पुलिस निरीक्षक केबी झाला मामले की जांच कर रहे हैं। पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ आइपीसी की धारा 302, 323 व 376 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

Posted By: Tilak Raj