चेन्नई, प्रेट्र। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने आइएस मॉड्यूल की जांच के सिलसिले में तंजावुर और तिरुचिरापल्ली में शनिवार को दो संदिग्धों के ठिकानों पर छापे मारे। एनआइए के मुताबिक तंजावुर में अलावुदीन तथा तिरुचिरापल्ली के एस. सरफुदीन के आवास से लैपटॉप, मोबाइल फोन और कई अन्य चीजें बरामद हुई हैं। गौरतलब है कि इस मामले में जून में कोयंबटूर में छापों के बाद मोहम्मद अजरुद्दीन तथा शेख हिदायतुल्ला को गिरफ्तार किया था।

पूछताछ कर रही एनआइए

एनआइए ने एक बयान में कहा कि ऐसा संदेह है कि दोनों शख्स जून में गिरफ्तार किए गए लोगों के साथी हैं। जांच के दौरान दो लैपटॉप, छह मोबाइल फोन, 11 सिम कार्ड, एक पेन ड्राइव, पांच सीडी/डीवीडी, एक कुल्हाड़ी के अलावा 17 दस्तावेज बरामद भी किए गए हैं। बयान के मुताबिक जब्त चीजों को विशेष अदालत को सौंपा जाएगा और उपकरणों को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा।' जांच एजेंसी ने कहा है कि संदिग्धों से इस मामले में दो आरोपितों से उनके संबंधों की जानकारी लेने के लिए पूछताछ की जा रही है और साथ ही यह भी पता लगाया जा रहा है कि क्या वे आइएस के लिए किसी गैरकानूनी गतिविधि में शामिल हैं।

आइएस आतंकी युवाओं को बना रहे निशाना

इस साल 30 मई को एनआइए ने कोयंबटूर के छह आरोपितों के खिलाफ एक मामला दर्ज किया था। ऐसी सूचना थी कि उन्होंने तथा उनके साथियों ने सोशल मीडिया पर प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन आइएस की विचारधारा को फैलाया। एनआइए ने कहा कि उनकी मंशा आइएस में ऐसे युवाओं की भर्ती करना था जिन्हें आसानी से निशाना बनाया जा सके। साथ ही केरल तथा तमिलनाडु में आतंकवादी हमले करने की योजना थी।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस