नई दिल्ली, एएनआइ। जम्मू कश्मीर टेरर फंडिंग केस (Terror Funding Case) मामले में नेशनल इंवेस्टीगेशन टीम (NIA) ने नोटिस भेजा है। ऑल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के चेयरमैन मीरवाइज उमर फारूक और नसीम गिलानी को 18 और 19  मार्च को एनआइए के समक्ष पेश होने का नोटिस भेजा गया है। इसके पहले एनआईए ने 11 मार्च को पेश होने का सम्मन भेजा था। तब मीरवाइज उमर फारूक दिल्ली में एनआइए के सामने पेश नहीं हुए थे।

पिछली पूछताछ के दौरान एनआइए के समक्ष पेश न होने पर उमर फारूक के वकील ने सफाई दी थी। जिसमें उन्होंने पत्र लिखकर एनआइए को जवाब दिया था, 'हुर्रियत चेयरमैन मीरवाइज के पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि वह मौजूदा हालात में दिल्ली नहीं आ सकते, इसलिए वह पूछताछ के लिए एनआइए को श्रीनगर में हरदम उपलब्ध हैं।'

वहीं अब देखना यह होगा कि एक बार फिर एनआईए की ओर से भेजे गए नोटिस में मीरवाइज उमर फारूक एनआईए के समक्ष पेश होते हैं या नहीं। बता दें कि मिरवाइज फारूक के साथ नसीम गिलानी को भी दिल्ली स्थित नेशनल इंवेस्टीगेशन टीम के सामने पेश होना है।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप