नई दिल्ली, जेएनएन। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) से जुड़े एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है। दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इस कार्रवाई को श्रीलंका में हुए आतंकी हमले से जोड़कर देखा जा रहा है। एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार, श्रीलंका में आतंकी हमले के मास्टरमाइंड जहरान हाशिम से इन आतंकियों के संपर्क के सबूत मिले हैं, जिसकी गहराई से जांच की जा रही है। 

पिछले रविवार को श्रीलंका में हुए आतंकी हमलों में 250 से अधिक लोग मारे गए थे। भारतीय एजेंसियों ने पहले ही श्रीलंका को आतंकी हमले की आशंका को लेकर सचेत कर दिया था, लेकिन वहां सुरक्षा एजेंसियां प्रभावी कदम नहीं उठा सकीं। श्रीलंका ने इन हमलों के लिए स्थानीय इस्लामिक आतंकी संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) को जिम्मेदार ठहराया है।

एनआइए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केरल में सक्रिय आइएस के कसारगोड मॉड्यूल के कुछ संदिग्ध आतंकियों के श्रीलंका हमले के मास्टरमाइंड से संपर्क की जानकारी मिली थी। इसके आधार पर केरल में तीन जगहों पर छापा मारा गया। छापे के दौरान एजेंसी ने कई मोबाइल फोन, सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव, मलयालम व अरबी में लिखी डायरियों के साथ-साथ जाकिर नाइक के भाषण वाली कई डीवीडी व उसकी किताबें जब्त की हैं। 

छापे के बाद एक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया गया है। दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इसके पहले बांग्लादेश के ढाका में हमला करने वाले आतंकियों के भी जाकिर नाइक से प्रेरित होने की बात सामने आई थी। एनआइए के अधिकारी के अनुसार कसारगोड मॉड्यूल के कई आतंकी सीरिया और इराक में आइएस में शामिल होने भी गए थे। इनमें से एक शैबू निहार को कतर से भारत प्रत्यर्पित कराया गया था। 

तमिलनाडु और केरल से गिरफ्तार आतंकियों से पूछताछ और उनसे बरामद दस्तावेजों के आधार पर ही श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर चर्चों समेत भारतीय दूतावास पर आतंकी हमले की आइएस की तैयारियों की जानकारी मिली थी। इस संबंध में भारतीय खुफिया एजेंसियों ने श्रीलंका को आगाह भी किया था। हालांकि पर्याप्त खुफिया इनपुट के बाद भी श्रीलंका की सुरक्षा एजेंसियां हमले को रोकने की दिशा में उचित कदम नहीं उठा सकीं।

पिछले हफ्ते हुई थी चार की गिरफ्तारी
एनआइए ने भारत में पैर बढ़ाने की आइएस की कोशिशों को पहले भी नाकाम किया है। आइएस की मौजूदगी का सुराग मिलने के बाद बीते शनिवार (20 अप्रैल) को एनआइए ने आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद और महाराष्ट्र के वर्धा शहर में छापे मारे थे। एजेंसी ने दोनों स्थानों से चार लोगों को हिरासत में लिया था। छापेमारी में कई डिजिटल डिवाइस और दस्तावेजों को जब्त किया गया था। इनमें 13 मोबाइल फोन, 11 सिम कार्ड, एक आइपैड, दो लैपटॉप, एक हार्ड डिस्क, छह पेन ड्राइव, छह मेमोरी कार्ड और तीन वाकी-टाकी शामिल थे।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस