नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। कर्नाटक के मैसूर-ऊटी रोड पर बने विवादित बस स्टॉप को ढहाया जाएगा। बस स्टॉप के गुंबद जैसे डिजाइन को लेकर इस पर विवाद हो रहा था। भाजपा सांसद ने भी इस पर बुलडोजर चलाने की धमकी दी थी। अब भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने मैसूर नगर निगम को नोटिस जारी किया है। नगर निगम से विवादित हिस्से को गिराने को कहा गया है।

मैसूर नगर निगम को एक हफ्ते का समय

एनएचएआई ने मैसूर नगर निगम को बस स्टॉप पर बने विवादास्पद संरचना को हटाने के लिए नोटिस जारी किया है। नगर निगम को इसके लिए एक हफ्ते का समय दिया गया है।

भाजपा सांसद Pratap Simha ने दी धी धमकी

गौरतलब है कि भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा ने बस स्टैंड को गिराने की धमकी दी थी। सांसद का कहना था कि मस्जिद जैसे दिखने वाले इस बस स्टैंड को गिराया जाएगा। उन्होंने शहर के इंजीनियरों से इसे ध्वस्त करने को कहा था। सांसद ने कहा कि इंजीनियर अगर ऐसा नहीं करते हैं तो वह खुद ही जेसीबी लेकर वहां पहुंच जाएंगे।

क्या है विवाद?

दरअसल, मैसूर-ऊटी रोड पर एक बस स्टैंड बनाया गया है। बस स्टैंड की छत पर गुंबद नजर आते हैं। मस्जिद जैसा दिखने पर इस बस स्टैंड को लेकर विवाद हो रहा था।

ये भी पढ़ें:

रौनक चौरसिया निकला महमूद खान: हिंदू युवती को फंसाकर किया निकाह, मतांतरण के विरोध पर काटे बाल

Shraddha Murder: पानी के बिल से आया श्रद्धा मर्डर केस में नया मोड़, पड़ोसी बोले- रोज टंकी चेक करता था आफताब

Edited By: Manish Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट