नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। तनाव को धीमा जहर कहा जाता है। दिल से लेकर दिमाग तक इसका दुष्प्रभाव पड़ता है। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा डिवाइस तैयार किया है जो व्यक्ति के पसीने, लार, खून या मूत्र से तनाव का कारण बनने वाले विभिन्न हार्मोन की जांच करने में सक्षम है। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ सिनसिनाटी के शोधकर्ताओं का मानना है कि इसकी मदद से लोग घर बैठे अपनी सेहत पर नजर रख सकेंगे। प्रोफेसर एंड्र्यू स्टेकल ने कहा, ‘यह डिवाइस सारी जानकारी नहीं देगा, लेकिन इसकी मदद से आपको यह पता चल जाएगा कि आपको किसी चिकित्सक से मिलने की जरूरत है या नहीं।’

यह डिवाइस पराबैंगनी किरणों की मदद से खून या पसीने की बूंद में तनाव वाले हार्मोन का पता लगाता है। डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और कई दिमागी समस्याओं में तनाव की भूमिका रहती है। अगर सही समय पर तनाव की स्थिति का पता चल जाए, तो व्यक्ति को कई गंभीर परेशानियों से बचाया जा सकता है।

तनाव और थकान को मिनटों में दूर करता है ये फूड

कॉफी

कॉफी में कैफीन पाया जाता है जो शरीर के तनाव और थकान को दूर करता है। इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट के भी गुण तो नहीं पाए जाते हैं मगर काम उसी का करते हैं।

अखरोट

ओमेगा 3 फैटी एसिड्स की कमी पूरी करें। मानसिक तनाव, अवसाद, चिंता, बार बार मूड खराब हीने की समस्या है तो अखरोट खाएं। इसे खाकर मिजाज ठीक होगा। लाइट फील करेंगे।ये ब्लड प्रेशर को भी ठीक करता है।

अंडे

विटामिन बी-12 से भरपूर अंडे का सेवन करने से डिप्रेशन भी नहीं होता है। अंडे में कोलीन होता है। इसके सेवन से मूड अच्छा होता है।

डार्क चॉकलेट

दुख में हैं, तो इसे खाकर खुशी महसूस होगी। डार्क चॉकलेट में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। इसे खाने से तनाव वाले हार्मोन कम होते हैं, अच्छे बढ़ जाते हैं।

फलियां

फलियों में विटामिन बी 12 और फोलिक एसिड की भरपूर मात्रा होती है। अवसाद और तनाव को कम करती है। हरी चीजों का सेवन करें।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप