नई दिल्ली, एजेंसी। मलेरिया, डेंगू और चिकुनगुनिया के बढ़ते मामलों को लेकर चिंतित डाक्टरों का कहना है कि हाई फीवर के साथ आ रहे मरीजों को कोरोना संक्रमित होने का खतरा है। दरअसल ये मामले जुलाई से नवंबर के बीच में आते हैं जो बढ़कर दिसंबर तक खींच सकता है। राजधानी दिल्ली में भी डेंगू के बढ़ते मामलों को देखते हुए तमाम अस्पतालों में उचित इंतजाम किए गए हैं।

दिल्ली में सोमवार को डेंगू के कारण इस साल की पहली मौत रिकार्ड की गई। वहीं जम्मू कश्मीर के ऊधमपुर में मंगलवार को 6 मामले सामने आए। दूसरी ओर राजस्थान में कोरोना पर लगाम लगने से राहत की सांस ले रही अशोक गहलोत सरकार के सामने अब डेंगू, मलेरिया और अन्य मौसमी बीमारियों ने मुश्किल खड़ी कर दी है। डेंगू के बढ़ते मामलों से चिंतित राज्य सरकार ने स्वास्थ्यकर्मियों के अवकाश रद कर दिए हैं। उनको आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा है।

राजस्थान: सात हजार से अधिक मामले

राजस्थान में तीन नवंबर तक डेंगू मुक्त राजस्थान अभियान शुरू किया गया है। एक जानकारी के अनुसार सूबे में अब तक सात हजार से ज्यादा डेंगू पीडि़त मिल चुके हैं। एक माह में 40 लोगों की मौत की बात सामने आई है। हालांकि, सरकार की तरफ से मरने वालों का कोई अधिकारिक आंकड़ा सार्वजनिक नहीं किया गया है। बताया जाता है कि अस्पतालों में बेड की कमी के चलते दौसा, भरतपुर, करौली, डूंगरपुर और प्रतापगढ़ जिलों में बच्चों को जमीन पर लिटाकर इलाज किया जा रहा है। इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला कलेक्टरों और चिकित्सा अधिकारियों से संवाद कर बीमारी से निपटने के लिए आवश्यक तैयारियां करने के लिए कहा। चिकित्सा मंत्री डा. रघु शर्मा ने जिलों में रेपिड रेस्पांस टीम और 24 घंटे काम करने वाला कंट्रोल रूम बनाने के निर्देश दिए हैं।

उत्तर प्रदेश: मुरादाबाद में डेंगू से दो की मौत

मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद स्थित नागफनी पुलिस स्टेशन एरिया में दो की मौत डेंगू के कारण हो गई। इससे पहले 6 दिनों में कुल 333 लोगों के एलिजा टेस्ट किए गए जिसमें से 47 डेंगू पाजिटिव पाए गए। एरिया में एहतियातन छिड़काव किया जा रहा है। यहां के डाक्टर ने कहा, 'हर दिन डेंगू के सात-आठ मरीजों की पहचान हो रही है। अक्टूबर में उत्तर प्रदेश में डेंगू के 79 सक्रिय मामले दर्ज किए गए।

लखनऊ में 24 घंटों में मिले 26 मरीज

लखनऊ में हर दिन आ रहे डेंगू के नए मरीजों से प्रशासन चिंता में है। लोगों से सतर्क रहने की अपील की गई है। बुधवार को यहां 26 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद अब तक यहां डेंगू के कुल मामलों का आंकड़ा 592 हो गया है । मादा मच्छर एडीज (female Aedes Aegypti) ही डेंगू की वाहक है जो घर के आस-पास जमा पानी में पनपती है। डेंगू के लिए कोई एंटी वायरल दवा नहीं है। इसका इलाज लक्षण के आधार पर ही किया जाता है।

Edited By: Monika Minal