नई दिल्‍ली, जागरण ब्‍यूरो। सिर, गर्दन, हाथ, छाती और पीठ उदयपुर (Udaipur Murder Case) में हत्‍यारों ने कन्‍हैयालाल (Udaipur Tailor Kanhaiya Lal) के शरीर के लगभग हर हिस्‍से पर जानलेवा वार किए। हत्यारों ने कन्हैयालाल पर धारदार हथियार से 26 वार किए थे। आठ वार तो केवल उनकी गर्दन पर ही किए गए। कन्हैयालाल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Kanhaiya Lal Postmortem Report) में ये रौंगटे खड़े कर देने वाली जानकारी सामने आई है।

हत्‍या के बाद सामने आए वीडियो में कन्‍हैयालाल पर किए वार देखकर लोग हिल गए थे। इस दर्दनाक हत्‍याकांड की जांच अब राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी(NIA) के हाथों में सौंप दी गई है। एनआइए और एसआइटी आज भी इस हत्‍याकांड की कडि़यों को जोड़ने की कोशिश करेगी। इस बीच मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) मृतक के परिवार से मिलने जा रहे हैं और हत्याकांड के खिलाफ आज करणी सेना ने राजस्थान में बंद बुलाया है।

कन्हैयालाल की पोस्टमार्टम करने वाली टीम में शामिल चिकित्सकों ने बताया कि तलवार जैसे धारदार हथियार से वार किए गए हैं। आठ-दस घाव तो गर्दन के पास मिले हैं। हत्‍यारों के इरादे बेहद खौफनाक थे। बता दें कि हत्‍यारों ने हमला करने के बाद 'सर तन से जुदा' के नारे लगाए थे। पुलिस ने दोनों हत्यारों को राजसमंद के भीम पुलिस थाने में रखा गया है। एनआइए और राजस्थान एसओजी व एटीएस पूछताछ कर रही है। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक ने कहा कि एनआइए के पास हमसे ज्यादा संसाधन हैं, वह ज्यादा बेहतर तरीके से जांच करेगी।

ऐसे पकड़े गए हत्‍यारे

हत्या के बाद पुलिस सक्रिय हुई और कन्हैयालाल की दुकान के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में नजर आए हत्यारों के चेहरों और बाइक के नंबर से उनकी पहचान की। इसके बाद उदयपुर के साथ ही आसपास के जिलों में पुलिस को संदेश देकर सर्तक किया गया। राजसमंद पुलिस को सूचना मिली कि हत्यारे भीम-देवगढ़ की तरफ बाइक से भागे हैं। मोबाइल से उनकी लोकेशन ट्रेस हो गई। हत्यारे अजमेर की तरफ जाने लगे, इसी बीच भीम और देवगढ़ थाने की पुलिस ने आड़वाला मोड़ पर दोनों को घेर लिया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हत्यारों को गिरफ्तार किए जाने पर पांच पुलिसकर्मियों को गैलेंट्री अवार्ड देने की बात कही है।

Edited By: Tilakraj