नई दिल्ली, एएनआइ। 2012 Delhi Nirbhaya case : आगामी 3 मार्च की सुबह 6 बजे चारों दोषियों को दी जाने वाली फांसी के मद्देनजर तिहाड़ जिला प्रशासन फिर सक्रिय हो गया है। तिहाड़ जेल से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, सभी चारों दोषियों (मुकेश सिंह, अक्षय कुमार, विनय कुमार शर्मा और पवन कुमार गुप्ता) को अपने परिजनों से अंतिम मुलाकात करने के लिए पत्र लिखा गया है। वहीं, जेल अधिकारियों ने दोषियों के परिजनों को भी पत्र लिखकर अंतिम मुलाकात के लिए बताने के लिए कहा है। मुकेश और पवन पहले ही अपने परिजनों से एक फरवरी से पहले मुलाकात कर चुके हैं। वहीं, अक्षय कुमार और विनय कुमार शर्मा को बताना है कि उनकी मुलाकात परिजनों से कब होगी? 

जब चाहेंगे तब कर पाएंगे मुलाकात

जेल अधिकारियों का कहना है कि हाल ही में सभी चारों दोषियों के परिजनों को पत्र लिखकर फांसी की तारीख 3 मार्च से पहले मुलाकात करने के लिए समय बताने के लिए कहा है। अधिकारियों का कहना है कि परिजनों की सुविधा और जेल मैन्यूअल के हिसाब से जब चाहेंगे उनकी मुलाकात दोषियों से करा दी जाएगी। यह मुलाकात दोषियों और परिजनों दोनों का अधिकार है। नियमानुसार, आखिरी मुलाकात के बाद चारों दोषियों से केवल जेल अधिकारी या डॉक्टर ही मिल सकेंगे।

वहीं, डेथ वारंट जारी होने के बाद ही तिहाड़ जेल संख्या तीन में फांसी की तैयारी तेज कर दी गई है। इस कड़ी में तिहाड़ जेल अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर मेरठ से जल्लाद को भेजने के लिए कहा है।

गौरतलब है कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों (विनय कुमार शर्मा, पवन कुमार गुप्ता, मुकेश सिंह और अक्षय सिंह ठाकुर) की फांसी के लिए डेथ वारंट जारी कर दिया है और चारों की फांसी की तैयारी भी चल रही है। डेथ वारंट के मुताबिक, आगामी 3 मार्च को सुबह 6 बजे तिहाड़ जेल में चारों को फांसी दी जानी है, लेकिन कानूनी पैंतरों में उलझने के चलते लगता नहीं कि 3 मार्च को चारों को फांसी हो पाएगी। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस