नई दिल्‍ली, एएनआइ। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (All India Institute of Medical Sciences यानी AIIMS) के रेजीडेंट डॉक्‍टर्स एसोशिएशन (Resident Doctors Association यानी RDA) ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) को चिट्ठी लिखकर किराए के मकानों से मेडिकल कर्मचारियों और डॉक्‍टरों बेदखल करने वालों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने जाने की गुहार लगाई है। साथ ही आने जाने के लिए परिवहन सुविधाओं के लिए प्रावधान (provision of transport facility) करने का अनुरोध किया है। 

डॉक्‍टरों के इस अनुरोध पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लिया संज्ञान लिया है। केंद्रीय गृहमंत्री ने दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर को निर्देश दिया है कि उन मकान मालिकों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई करें जो डॉक्‍टरों, नर्सों और इलाज करा रहे मरीजों को किराए के मकानों से बाहर निकाल रहे हैं। 

केंद्रीय गृहमंत्री शाह को लिखे पत्र में रेजीडेंट डॉक्‍टर्स एसोशिएशन (Resident Doctors Association यानी RDA) ने कहा है कि जो भी डॉक्‍टर, नर्सें और हेल्‍थकेयर कर्मचारी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में रात दिन जुटे हुए हैं... उन्‍हें उनके उनके मकान मालिक महामारी के डर से किराए के घरों से बेदखल कर रहे हैं। आलम यह है कि कई डॉक्‍टरों को सामानों के साथ उनके मकान मालिकों ने किराए के घरों से बाहर निकाल दिया है जिसकी वजह से वे गृहस्‍थी के सामानों के साथ सड़क पर आ गए हैं। 

एसोसिएशन ने कहा है कि देश में कई जगहों से ऐसी शिकायतें आ रही हैं। हम मकान मालिकों के इस व्‍यवहार की निंदा करते हैं। इन घटनाओं की वजह से हम इस महामारी के मुश्किल वक्‍त में खुद को बेहद असहाय महसूस कर रहे हैं। चूंकि इस समय कई राज्‍यों में कंप्‍लीट लॉकडाउन की स्थितियां हैं इस वजह से भी डॉक्‍टरों, नर्सों और मेडिकल स्‍टॉफ के लोगों को घर से अस्‍पतालों तक आने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए हम सभी की आप से (गृहमंत्री अमित शाह) से गुजारिश है कि हमें अस्‍पतालों तक आने जाने के लिए परिवहन का बंदोबस्‍त किया जाए। हमारी अपील है कि ऐसे प्रावधान किए जाएं ताकि हमें पुलिस और सुरक्षा बलों के जवान भी अस्‍पतालों और कार्यस्‍थलों पर आने जाने में परेशान नहीं करें। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस