नई दिल्ली, जेएनएन। आतंकी साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किए गए 10 संदिग्धों को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) बृहस्पतिवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने सभी को 12 दिन की रिमांड पर भेज दिया है। वहीं, छापेमारी में गिरफ्तार किए गए लोगों के परिजनों ने अलग से कोर्ट में अर्जी दाखिल कर उनसे मिलने की इजाजत मांगी थी। इस पर जज के सामने परिजनों को मुलाकात की इजाजत मिला। इसमें चार संदिग्धों ने ही परिजनों से मुलाकात की।

वहीं आरोपित के वकील ने कहा कि पकड़े गए लोगों में कुछ छात्र हैं। एनआइए ने क्‍या रिकवर किया है? ट्रैक्‍टर के पावर नॉजल जिसे रॉकेट लांचर बताया जा रहा है। जिसे एनआइए ने विस्‍फोटक बता रही है वह सुतली बम है जिसे दीपावली में जलाया जाता है। उन्‍होंने एनआइए पर पूरी घटनाक्रम को तोड़मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाया है।

बता दें कि बुधवार को एनआइए ने आइएसआइएस (ISIS) से प्रेरित एक आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश किया है। एनआइए ने मॉड्यूल से जुड़े दिल्ली और उत्तर प्रदेश के 17 ठिकानों पर छापा मारते हुए 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।  

तीन-चार महीने पहले बना यह माड्यूल देश में भीड़भाड़ समेत अहम ठिकानों और महत्वपूर्ण व्यक्तियों पर हमले की तैयारी में था और भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक जुटा चुका था। यह माड्यूल 'हरकत उल हर्ब ए इस्लाम' के नाम से काम कर रहा था। 
NIA Raids Matter

बड़े पैमाने पर तबाही की थी तैयारी
छापे में इनके पास से 25 किलोग्राम पोटैशियम नाइट्रेट, अमोनियम नाइट्रेट, सल्फर और सुगर मैटेरियल पेस्ट के साथ-साथ 112 अलार्म घड़ी, मोबाइल फोन सर्किट, बैटरी, 51 पाइप, कार का रिमोट कंट्रोल, वायरलेस डोरवेल स्वीच, स्टील कंटेनर, तार, 91 मोबाइल फोन और 134 सिम कार्ड बरामद किये गए हैं। ये सारा सामान कई आइईडी बम बनाने के लिए पर्याप्त था। 

एनआइए ने बताया कि बड़ी मात्रा में विस्फोटक के साथ ही इस माड्यूल ने एक देशी रॉकेट लॉन्चर भी तैयार कर लिया था। इसके अलावा इन लोगों से फिदायीन हमलों में इस्तेमाल होने वाला जैकेट भी बरामद किया गया है। इनके ठिकानों से 12 पिस्तौल और 150 कारतूस भी बरामद किये गए हैं। इनके पास से मिले बड़ी मात्रा में आइएसआइएस से जुड़े आपत्तिजनक दस्तावेज मिले हैं। जिससे इन माड्यूल के आइएसआइएस से प्रेरित होने की बात साबित होती है।

Posted By: Vikas Jangra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप