नई दिल्ली (किशन कुमार)। 'अगर अच्छी गर्लफ्रेंड चाहिए तो स्वच्छ भारत में सहयोग करें।' यह प्लेकार्ड लेकर पिछले दो वर्षों से वेदप्रकाश लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने फेसबुक व अन्य सोशल साइट्स पर दो दोस्तों के साथ 'लैट इंडिया शाइन' नाम से ग्रुप भी बनाया है। इसके माध्यम से भी वेदप्रकाश ने स्वच्छता की मुहिम छेड़ रखी है।

मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से खासी प्रभावित हैं वेदप्रकाश की गर्लफ्रेंड

मूल रूप से बिहार के छपरा जिले के रहने वाले वेदप्रकाश नामी होटल में हाउसकीपिंग असिस्टेंट मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि उनकी गर्लफ्रेंड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बहुत बड़ी फैन है। वह प्रधानमंंत्री मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से खासी प्रभावित है, इसलिए उनकी गर्लफ्रेंड ने उन्हें भी कुछ ऐसा करने के लिए कहा, जिससे लोग स्वच्छता के प्रति जागरूक हो सके। इसके बाद वेदप्रकाश ने ग्रुप बनाया और साथ ही प्लेकार्ड के जरिये लोगों को जागरूक करने में जुट गए।

वह बताते हैं कि वह सप्ताह में छुïट्टी वाले दिन तीन से चार घंटे निकालकर कनॉट प्लेस, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन व धौलाकुआं में से किसी एक जगह पर जाकर प्लेकार्ड के जरिये लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करते हैं। उनके पास इसी प्रकार के 30 से 35 प्लेकार्ड हैं। इनमें 'कटप्पा ने बाहुबली को इसलिए मारा क्योंकि वह गंदगी ज्यादा करता था', 'गर्लफ्रेंड की कसम मैं देश को गंदा नहीं होने दूंगा', 'तंबाकू गुटखा छोड़िए गर्लफ्रेंड से नाता जोड़िए' लिखे हुए प्लेकार्ड हैं।

पुलिस कई बार कर चुकी है परेशान

वेदप्रकाश ने कहा कि जब भी वह कनॉट प्लेस आकर लोगों को जागरूक करते हैं तो उन्हें पुलिस का डर लगा रहता है। पूर्व में उन्हें पुलिस इस तरह की हरकत करने पर थाने ले जा चुकी है। वह कहते हैं कि एक तरफ गंदगी फैलाने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। वहीं, यदि कोई स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने का बीड़ा उठाता है तो पुलिस उसे जेल में बंद कर देती है।

यहां पर बता दें कि पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत दिल्ली के राजपथ पर करते हुए कहा था कि एक स्वच्छ भारत के द्वारा ही देश 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर अपनी सर्वोत्तम श्रद्धांजलि दे सकते हैं। उस दौरान 2 अक्टूबर, 2014 को स्वच्छ भारत मिशन देश भर में व्यापक तौर पर राष्ट्रीय आंदोलन के रूप में शुरू किया गया था।

इस अभियान के अंतर्गत 2 अक्टूबर 2019 तक “स्वच्छ भारत” की परिकल्पना को साकार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। यह भी बता दें कि स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार द्वारा चलाया गया सबसे महत्वपूर्ण स्वच्छता अभियान है।

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने एक ऐसा रचनात्मक और सहयोगात्मक मंच प्रदान किया है जो राष्ट्रव्यापी आंदोलन की सफलता सुनिश्चित करता है। यह मंच प्रौद्योगिकी के माध्यम से नागरिकों और संगठनों के अभियान संबंधी प्रयासों के बारे में जानकारी प्रदान करता है। कोई भी व्यक्ति, सरकारी संस्था या निजी संगठन अभियान में भाग ले सकते हैं। इस अभियान का उद्देश्य लोगों को उनके दैनिक कार्यों में से कुछ घंटे निकालकर भारत में स्वच्छता संबंधी कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

Posted By: JP Yadav