हैदराबाद, एजेंसी। देश में कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से शुरू हो रहा है। इसकी तैयारियों जोर-शोर से चल रही है। भारत बायोटेक की अपनी वैक्सीन 'कोवैक्सीन' (Covaxin) की पहली खेप हैदराबाद से बुधवार सुबह दिल्ली और 10 अन्य शहरों को भेजी गई। इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अपनी वैक्सीन 'कोविशील्ड' (Covishield) की पहली खेप मंगलवार से भेजनी शुरू कीथी। 'कोवैक्सीन' की पहली खेप को एयर इंडिया की फ्लाइट से दिल्ली भेजा गया। वैक्‍सीन में 80.5 किलोग्राम के तीन बॉक्स हैं।

दिल्‍ली, बेंगलुरु, जयपुर, चेन्नई, पटना और लखनऊ में वैक्‍सीन की खेप भेजी गई

एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार सुबह 06:40 बजे एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या AI 559 से वैक्सीन के पहले भेजे गए माल के तहत हैदराबाद से दिल्ली भेजा गया है। दिल्ली के अलावा कोवैक्सीन की खेप बेंगलुरु, जयपुर, चेन्नई, पटना और लखनऊ भी भेजी गई है। आज कुल 11 शहरों में वैक्‍सीन की खेप भेजी गई। 

 स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, 'कोवैक्सीन' की 55 लाख और 'कोविशील्ड' की 1.1 करोड़ टीके की खुराक खरीदी जा रही है। इन दोनों कंपनियों की वैक्सीन को डीसीजीआइ (DCGI) द्वारा आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिली है। आइसीएमआर के साथ मिलकर भारत बायोटेक ने इस वैक्सीन का निर्माण किया है। भारत बायोटेक शुरुआती तौर पर 38.5 लाख टीके की डोज के लिए 295 रुपये प्रति खुराक कीमत ले रहा है। भारत बायोटेक ने केंद्र सरकार को 16.5 लाख डोज मुफ्त देने का भी फैसला किया है।

केंद्र को अब तक 54 लाख से अधिक वैक्सीन मिल चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि पहले चरण की पूरी खेप सभी राज्यों को 14 जनवरी तक मिल जाएगी। ज्ञात हो कि हर व्यक्ति को वैक्सीन की दो डोज लगेगी। पहली खुराक के 28 दिन बाद दूसरी डोज दी जाएगी। दूसरी खुराक लेने के 14 दिन बाद इसका असर शुरू होगा।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021