नयी दिल्‍ली, एजेंसी। कांग्रेस देश में बढ़ती महंगाई को लेकर आवाज उठाने की तैयारियां पूरी कर ली है। पार्टी ने गुरुवार को कहा कि 17 से 23 अगस्‍त के बीच सभी विधानसभा क्षेत्रों की मंडियों, खुदरा बाजारों और अन्‍य स्‍थानों पर 'मंहगाई चौपाल' का आयोजन किया जाएगा। इसका समापन 28 अगस्त को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक मेगा रैली के साथ होगा।

पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि 'महंगाई चौपाल' का आयोजन आपसी विचार-विमर्श के लिए किया जा रहा है। इसका समापन 28 अगस्‍त दिल्‍ली के रामलीला मैदान में महंगाई पर हल्‍ला बोल रैली के रूप में होगा जिसे वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता संबोधित करेंगे।

मालूम हो कि बीते 5 अगस्त को किए गए कांग्रेस के प्रदर्शन को प्रधानंमत्री मोदी द्वारा "काला जादू" बताए जाने के बाद कांग्रेस मंहगाई के मुद्दे पर इस बड़ी रैली का आयोजन करने जा रही है। उनकी यह रैली मोदी सरकार की जन-विरोधी नीतियों के खिलाफ होगी।

पार्टी सचिव ने कहा कि बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी पर काबू पाने में भाजपा सरकार नाकाम रही है और इसे लेकर उनमें असुरक्षा की भावना पैदा हो गई है।

उन्‍होंने ऐलान करते हुए कहा, ''महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार को घेरने के प्रयास में कांग्रेस पार्टी आने वाले हफ्तों में सिलसिलेवार तरीके से विरोध प्रदर्शनों के साथ अपनी इस लड़ाई को और तेज करेगी।

महासचिव ने कहा कि भारत के लोग मोदी सरकार के "आर्थिक कुप्रबंधन" का खामियाजा भुगत रहे हैं। भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस इन्‍हीं जनविरोधी नीतियों पर लोगों में जागरूकता फैलाती रहेगी और भाजपा सरकार पर इन्‍हें बदलने के लिए दबाव बनाएगी।''

पूर्व मंत्री ने कहा, ''दही, छाछ, पैक की गई खाद्य वस्तुएं जैसे आवश्‍यक सामानों पर अत्‍यधिक करों के कारण महंगाई बढ़ रही है, जबकि सार्वजनिक सम्‍पत्तियों को मित्र पूंजीपतियों को हस्‍तांतरित करने और सेना में भर्ती की दिशाहीन अग्निपथ योजना जैसे कदमों से रोजगार की स्थिति बद से बदतर हो रही है।'' उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस इन प्रयासों के साथ मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों का जनता के सामने पर्दाफाश करेगी।

Edited By: Arijita Sen