मुंबई। '93 मुंबई बम धमाकों से जुड़े हथियार रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट से पांच साल की सजा पाए बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को माफी देने का कांग्रेस की सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और भाजपा ने कड़ा विरोध किया है। दोनों दलों का कहना है कि अभिनेता की सजा माफ करने पर अन्य दोषी भी इस तरह की मांग कर सकते हैं।

पढ़ें: संजय दत्त की सजा घटाने पर केंद्र ने मांगी महाराष्ट्र से राय

महाराष्ट्र के ग्रामीण विकास मंत्री जयंत पाटिल ने कहा, न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने के बाद संजय दत्त को सजा दी गई है। ऐसे में यदि अभिनेता की सजा माफ कर दी जाती है तो न्यायिक प्रक्रिया को कोई अर्थ नहीं रह जाएगा। अन्य दोषियों द्वारा भी इस तरह की मांग की जाने लगेगी। पाटिल ने कहा कि महाराष्ट्र गृह विभाग ने ही मुंबई धमाकों के दोषियों के खिलाफ सख्त सजा देने की मांग की थी।

इसी तरह भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधानपरिषद में विपक्ष के नेता विनोद तावड़े ने नागपुर में कहा कि संजय दत्त को माफ करना उचित नहीं होगा। अभिनेता आज क्या हैं, इसका कोई मतलब नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई धमाकों में संलिप्तता को लेकर ही उन्हें दोषी ठहराया है। अब सजा माफ करने से आतंकियों के बीच गलत संदेश जाएगा। तावड़े के मुताबिक भाजपा के नेतृत्व में शुक्रवार को विपक्षी पार्टियों का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण और राज्य के गृह मंत्री आरआर पाटिल से मुलाकात कर सजा माफी की अर्जी पर विचार न करने की मांग करेगी।

ज्ञात हो कि भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष मार्कंडेय काटजू ने संजय दत्त और दो अन्य की सजा को मानवीय आधार पर कम करने की अर्जी दी थी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा अर्जी को विचार के लिए गृह मंत्रालय के पास भेजने के बाद केंद्र ने महाराष्ट्र सरकार से उसपर राय मांगी है। संजय दत्त को पांच साल कैद की सजा सुनाई गई है, जिसमें वह 18 महीने की सजा भुगत चुके हैं। फिलहाल जेल में अच्छा व्यवहार को लेकर उन्हें छोड़ा गया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस