नई दिल्‍ली, एजेंसियां। फि‍ल्म अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान से जुड़े ड्रग्स मामले में भुगतान के आरोपों के बीच एनसीबी मुंबई के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े दिल्ली पहुंचे हैं। वानखेड़े ने यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बाहर मीडिया कर्मियों से कहा कि मुझे एजेंसी (Narcotics Control Bureau, NCB) ने तलब नहीं किया है। मैं यहां किसी और काम से आया हूं। मेरे फि‍लाफ सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

इससे पहले एनसीबी और उसके क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े मादक पदार्थ मामले में उनके खिलाफ लगे वसूली के आरोपों में सोमवार को महानगर की एक विशेष अदालत पहुंचे। वानखेड़े ने अदालत में एक हलफनामा दायर कर कहा है कि उन पर झूठे आरोप लगाकर उनके द्वारा की जा रही जांच को प्रभावित करने एवं उनकी छवि खराब करने का प्रयास किया जा रहा है।

वानखेड़े ने विशेष अदालत से इस पर रोक लगाने की अपील की लेकिन विशेष अदालत ने अपनी ओर से ऐसा कोई आदेश देने से इन्कार कर दिया। दरअसल आर्यन खान ड्रग्स मामले में गवाह बनाए गए प्रभाकर सैल ने एक हलफनामा तैयार कर इंटरनेट मीडिया के जरिये आरोप लगाया है कि एनसीबी ने उससे 10 सादे कागजों पर दस्तखत करवाए।

उसने हलफनामे में इसी मामले के एक अन्य गवाह द्वारा समीर वानखेड़े को आठ करोड़ रुपये देने की बात करते हुए सुनने का हवाला भी दिया है। इन गंभीर आरोपों के बाद सोमवार को वानखेड़े ने विशेष एनसीबी अदालत में हलफनामा दायर कर आर्यन मामले में पैदा की जा रही बाधाओं पर रोक लगाने की मांग की। वानखेड़े ने अदालत से मांग की है कि किसी को भी जांच प्रभावित करने या उसमें हस्तक्षेप करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

वहीं प्रभाकर सैल के हलफनामे के बाद एनसीबी के सतर्कता विभाग ने भी पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर जनरल ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा है कि वानखेड़े पर लगे आरोपों की जांच एनसीबी का सतर्कता विभाग कर रहा है। उनके अनुसार अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता कि समीर पद पर बने रहेंगे या नहीं?

वहीं सूत्रों का कहना है कि वानखेड़े के किसी अन्य मामले में मंगलवार को दिल्ली स्थित एनसीबी मुख्यालय पहुंच सकते हैं। सोमवार को अदालत में मौजूद वानखेड़े ने कहा कि मेरे परिवार के सदस्यों पर भी आरोप क्यों लगाए जा रहे हैं? क्या ऐसा सिर्फ इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि मैं एक जांच का नेतृत्व कर रहा हूं? उन्होंने अदालत से कहा कि वह किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार हैं।

हलफनामे में वानखेड़े ने कहा कि चूंकि मेरे द्वारा की जा रही निष्पक्ष जांच कुछ लोगों को हजम नहीं हो रही है, इसलिए मुझे गिरफ्तार करने एवं नौकरी से हटाने की धमकियां दी जा रही हैं। एनसीबी की ओर से पेश हुए विशेष वकील अद्वैत सेठना ने कहा कि वानखेड़े पर पहले भी आरोप लगते रहे है लेकिन इस प्रकार परिवार को निशाना बनाने की घटना पहली बार देखी जा रही है।

गौरतलब है कि एनसीबी ने तीन अक्टूबर को गोवा जा रहे एक क्रूज पोत पर छापेमारी करके आर्यन खान और कुछ अन्य लोगों को गिरफ्तार किया था। एनसीबी (Narcotics Control Bureau, NCB) ने मादक पदार्थ जब्त किए जाने का भी दावा किया था। आर्यन अभी मुंबई की आर्थर जेल में बंद है। उसकी जमानत पर बॉम्‍बे हाईकोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा।