नई दिल्ली, एजेंसी। आर्यन खान ड्रग्स मामले की जांच नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की केंद्रीय टीम कर रही है। एनसीबी के उप महानिदेशक संजय सिंह के नेतृत्व में नवगठित विशेष जांच दल (एसआइटी) ने शनिवार को आर्यन खान सहित छह मामलों की जांच शुरू कर दी है। संजय सिंह 1996 बैच के आइपीएस अधिकारी है। वह उन सभी छह मामलों की जांच का जिम्मा संभाल रहे हैं, जो पहले क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के नेतृत्व में थे। संजय कुमार का कहा कि हमने 6 मामलों को अपने हाथ में ले लिया है और हम इसमें मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की सहायता भी लेंगे।

एएनआइ से फोन पर बात करते हुए एनसीबी के एक अधिकारी ने कहा कि समीर वानखेड़े जोनल डायरेक्टर रैंक के एक अधिकारी हैं जो एक उप महानिरीक्षक (डीआईजी) के रैंक के बराबर हैं। ऐसे वरिष्ठ अधिकारी किसी भी मामले के जांच अधिकारी नहीं बन सकते हैं।उन्होंने कहा कि वह क्षेत्र की किसी भी जांच की निगरानी करते हैं। इसलिए यह कहना निराधार है कि समीर वानखेड़े इन 6 मामलों की जांच करना बंद कर देंगे।

एनसीबी ने शुक्रवार को ड्रग्स मामले की जांच से समीर वानखेडे को हटाकर संजय सिंह की अध्यक्षता में एक एसआइटी का गठन किया था। शुक्रवार को जारी एनसीबी के बयान में कहा गया है कि एनसीबी मुख्यालय की संचालन शाखा के अधिकारियों की एक एसआईटी का गठन किया गया है। वानखेड़े के नेतृत्व में ही एनसीबी की टीम ने मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर छापा मार कर अभिनेता शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार किया था।

बयान में यह भी कहा गया है कि किसी भी अधिकारी को उनकी वर्तमान भूमिकाओं से नहीं हटाया गया। जब तक इसके विपरीत कोई विशिष्ट आदेश जारी नहीं किया जाता है, तब तक समीर वानखेड़े आवश्यकतानुसार संचालन शाखा की जांच में सहायता करेंगे। इसमें कहा गया है कि एनसीबी पूरे भारत में एक एकीकृत एजेंसी के रूप में कार्य करता है।

वानखेड़े ने भी इस बात से इन्कार किया कि है कि उन्हें मामले से हटा दिया गया है। उन्होंने कहा, 'मुझे जांच से नहीं हटाया गया है। अदालत में मेरी रिट याचिका थी कि मामले की जांच एक केंद्रीय एजेंसी द्वारा की जाए। इसलिए आर्यन खान केस और समीर खान दिल्ली विशेष जांच दल मामले की जांच कर रहा है। यह दिल्ली और मुंबई की एनसीबी टीमों के बीच समन्वय है।'

आर्यन की गिरफ्तारी के बाद से ही महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक वानखेड़े पर लगातार आरोप लगाते आ रहे हैं। एनसीपी नेता ने एनसीबी मुंबई के प्रमुख पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। इसके अलावा एक गवाह ने भी वानखेड़े पर जबरन वसूली का आरोप लगाया। इसको लेकर एनसीबी के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह के नेतृत्व वाली सतर्कता टीम ने उनकी जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Manish Pandey