कांकेर, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले के सर्वाधिक संवेदनशील दुर्गुकोंदल के कोंडेगांव में मंगलवार देर शाम नक्सलियों ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी। एसपी केएल धु्रव के मुताबिक शाम सात बजे के करीब 25 हथियाबंद नक्सली कोंडेगांव में घुस आए और संघ के स्वयंसेवक दादूराम कोरेटी को उनके घर से कुछ दूर ले जाकर गोली मारकर हत्या कर दी। कार्यकर्ता का नाम दादू राम बताया जा रहा है। 

नक्सलियों ने उन पर पुलिस के लिए काम करने का आरोप लगाकर पर्चे भी फेंके। मामले की सूचना मिलते ही दुर्गुकोंदल से पुलिस की टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो गई। जानकारी के मुताबिक नक्सली देर रात कार्यकर्ता के घर पहुंचे और उन्हें आवाज देकर घर से बाहर बुलाया। वह दादू राम को उसके घर से कुछ दूरी पर ले गए। इसके बाद गोली मारकार उनकी हत्या कर दी।

भाजपा नेता की भी की थी हत्या 
मई महीने में छत्तीसगढ़ के ही नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने भाजपा विधायक भीमा मंडावी समेत पांच लोगों की हत्या कर दी थी। हालांकि पुलिस ने बाद में घटना को अंजाम देने वाले मास्टमाइंड नक्सली को मार गिराया था।

सपा नेता की भी की हत्या 
जून महीने में नक्सलियों ने समाजवादी पार्टी के  संतोष पुनेम को बीजापुर जिले के पास मार दिया था।

झारखंड में भी की थी हत्या 
कुछ दिन पहले (5 अगस्त) नक्सलियों ने झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले के टोकलो थाना क्षेत्र के चितपिल गांव में पुलिस मुखबिरी के आरोप में बंदगांव प्रखंड सचिव प्रदीप महतो की गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

छत्तीसगढ़ ओडिशा सीमा पर नक्सलियों और पुलिस में मुठभेड़ 

वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले की सीमा से लगे ओडिशा के मलकानगिरी जिले में नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच बुधवार को मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में एक जवान के शहीद होने की खबर है। इसके अलावा एक जवान गंभीर रूप से घायल है जिसे उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल कराया गया है। वहीं दूसरी तरफ इस मुठभेड़ में एक नक्सली के भी मारे जाने की खबर है। घटना स्थल से नक्सलियों के कुछ हथियार भी बरामद हुए हैं।

स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मलकानगिरी जिले के बोंडाघाटी में सुरक्षा बल सर्चिंग पर निकले थे। खैरपुट और कादमगुडा के जंगल में घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद दोनों ओर से गोलियां चलने लगीं। करीब 2 घंटे तक मुठभेड़ चलती रही। सूचना मिलने पर मलकानगिरी के पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुंचे। इसके कुछ देर बाद नक्सली मोर्चा छोड़कर भाग खड़े हुए।

घटना में डीवीएफ के जवान जयसिंह कवासी शहीद हो गए। घायल जवान रामसिंह धुर्वा का अस्पताल में उपचार चल रहा है। मुठभेड़ के बाद घटना स्थल की सर्चिंग में एक नक्सली का शव और एक एसएलआर व एक थ्री नॉट थ्री बंदूकें बरामद हुई हैं। इलाके में सर्चिंग बढ़ा दी गई है।

ये भी पढ़ें : नक्‍सल प्रभावित राज्यों के सम्मेलन में बोले CM नीतीश, वाम उग्रवाद के खिलाफ और मदद करे केंद्र

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस