सुकमा, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में शनिवार को नक्सलियों ने शिक्षा मित्र के तौर पर नियुक्‍त स्‍थानीय युवक की हत्या कर लाश को जंगल में फेंक दिया। बता दें कि जिले में नक्‍सलियों द्वारा तबाह किए गए स्‍कूलों को फिर से सामान्‍य करने के लिए सरकार ने स्‍थानीय युवकों को वहां शिक्षा देने के लिए नियुक्‍त किया है।

मृतक युवक मुचाकी लिंगा की हत्या कर नक्सलियों ने लाश बैनपल्ली गांव के नजदीक जंगल में फेंक दी। फिलहाल शव के बरामद होने की कोई सूचना नहीं है।

सुकमा के पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा ने घटना की जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि बैनपल्ली निवासी मुचाकी लिंगा की हत्या की सूचना अभी उनके परिजनों तक नहीं पहुंची है।

उल्‍लेखनीय है कि सामाजिक-आर्थिक विकास में नक्‍सलियों द्वारा बाधा पैदा किया जाता है। वे बच्चों को शिक्षा से दूर रखना चाहते हैं ताकि आने वाली पीढ़ी आसानी से उनके शोषण का शिकार हो सके। इसलिए वे स्‍कूलों को तबाह कर देते हैं।

बस्तर के कई गांवों में स्कूल वर्षों से बंद हैं जिसके पुनरुद्धार के लिए सरकार प्रयासरत है। इसी क्रम में वहां के स्‍थानीय युवकों को ही शिक्षामित्र नियुक्‍त करने का काम शुरू किया है। 

 यह भी पढ़ें: सुकमा जिला के कलेक्‍टर ने ब्‍लड डोनेट कर बचाई गर्भवती महिला की जान

यह भी पढ़ें: नक्‍सली हमला: बारुदी सुरंग में विस्‍फोट के चपेट में आया पेट्रोल टैंकर, तीन की मौत 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस