सुकमा, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा और सुकमा जिले की सीमा पर बुधवार को फिर सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें पांच लाख रुपये का इनामी एरिया कमेटी मेंबर मड़कम मुइया मार गिराया गया। वहीं, चिंतागुफा थाना क्षेत्र के करीगुंडम और माटेमरका के जंगलों में सुरक्षाबलों ने नक्सली कैंप ध्वस्त कर दिया है। यहां से तलाशी में तीन बंदूक, करीब तीन किलो वजनी एक आइईडी, 80 मीटर बिजली का तार, दो पिटठू बैग समेत नक्सली साहित्य बरामद किया गया है।

बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि दंतेवाड़ा, सुकमा और बस्तर जिलों के सीमावर्ती इलाके में स्थित मारजुम गांव के जंगल में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में उक्‍त नक्सली को मार गिराया। पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी की मानें तो मंगलवार को मारजुम गांव के जंगल में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में महिला नक्सली के मारे जाने के बाद क्षेत्र में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ और डीआरजी (जिला रिजर्व गार्ड) के दल को गश्त के लिए रवाना किया गया था।

दंतेवाड़ा और सुकमा की सीमा पर नक्सल अभियान के लिए स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ), डिस्टि्रक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों की संयुक्त टीम गई थी। यह अभियान दंतेवाड़ा, बस्तर और सुकमा जिलों की फोर्स ने संयुक्त रूप से चलाया था। यहां फिर सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से जबरदस्त फायरिंग हुई। इस दौरान एक नक्सली मार गिराया गया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि बुधवार शाम को जब डीआरजी और सीआरपीएफ के जवान क्षेत्र में थे तब नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी जारी रही। सुरक्षा बलों को भारी पड़ता देख कर नक्सली वहां से फरार हो गए। बाद में जब सुरक्षा बलों ने घटनास्थल की तलाशी ली तो वहां एक नक्सली का शव पाया। गत मंगलवार को इसी इलाके में पांच लाख की इनामी महिला नक्सली कमांडर मुन्नी मारी गई थी।

Edited By: Krishna Bihari Singh