मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अनंतनाग (एएनआइ)। आतंकी बुरहान वानी के हमदर्दों की फेहरिस्त में एक और नाम शामिल हो गया है। इस बार आतंकी बुरहान वानी की वकालत जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और एनसी प्रमुख उमर अब्दुल्ला की पार्टी के नेता ने की है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के विधायक अब्दुल माजिद लारमी ने आतंकी बुरहान वानी को शहीद बताया है। अपने विवादास्पद बयान में उन्होंने कहा, 'कश्मीर में मारे गए सभी आतंकी और हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी सहित सभी लोग 'शहीद' है।' उन्होंने आगे कहा कि जो लोग मुद्दों के लिए लड़ रहे हैं वे 'शहीद' , कश्मीर में मारे जा रहे आतंकवादियों सहित सभी लोग 'शहीद' हैं, जिसमें बुरहान वानी भी शामिल हैं।

 

मीडिया से बातचीत के दौरान लारमी ने राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर भी बरसते हुए आरोप लगाया, 'उनका कश्मीरियों के दर्द से कोई लेना देना नहीं है। बुरहान वानी के शहीद होने के बाद से अबतक 250 बच्चे शहीद हुए हैं, लेकिन कभी भी महबूबा ने इस पर कुछ टिप्पणी नहीं की।'

बता दें कि घाटी में सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ कई हमलों के लिए जिम्मेदार बुरहान वानी को पिछले साल 8 जुलाई को भारतीय सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में मार गिराया था। बुरहान की मौत के बाद कश्मीर घाटी में व्यापक रूप से विरोध फैल गया और हालात को काबू में करने के लिए लगातार 53 दिनों तक घाटी में कर्फ्यू लगा रहा।

इससे पहले सेना के अधिकारी उमर फैज पैरी की हत्या पर लारमी की टिप्पणी की कड़ी आलोचना हुई थी। पैरी को पिछले साल दिसंबर में 2 राजपूताना राइफल्स में कमीशन किया गया था। दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में उनका शव मिला था। सेना के लेफ्टिनेंट उमर फैज पैरी की हत्या के पीछे हिजबुल और जैश के पांच स्थानीय आतंकवादी का नाम सामने आया था।

आतंकी के 'हमदर्द'
ऐसा पहली बार नहीं है जब नेशनल कॉन्फ्रेंस के किसी विधायक ने आतंकी बुरहान वानी को शहीद कहा हो। इससे पहले जनवरी, 2017 में नेशनल कॉन्फ्रेंस के विधायक शौकत हुसैन ने बुरहान को शहीद कहा था। उन्होंने कहा था कि बुरहान वानी एक शहीद है क्योंकि उसने जम्मू और कश्मीर के लिए अपनी जान कुर्बान की है।

यह भी पढ़ें: फारुख अब्‍दुल्‍ला के बिगड़े बोल, कहा- पाकिस्तान कोई साजिश नहीं करता

Posted By: Nancy Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप