नई दिल्ली, जेएनएन। नसीरुद्दीन शाह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को करारा जवाब दिया है। शाह ने इमरान को नसीहत दी है कि वे अपने घर का ख्याल रखें। शाह ने तीखा जवाब देते हुए कहा, 'मुझे लगता है कि इमरान खान को उन मुद्दों पर टिप्पणी करने की (जिनका उनसे लेना-देना नहीं है) बजाय अपने देश के बारे में सोचना चाहिए। हमारे देश में 70 साल से लोकतंत्र बना हुआ है और हम जानते हैं कि हमें अपनी देखभाल कैसे करनी है।'

नसीरुद्दीन विवाद में कूदे पाकिस्तान के PM

दरअसल, बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बुलंदशहर हिंसा पर दिए बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया था। उनकी टिप्पणी पर भारत में बवाल मचने पर पड़ोसी मुल्क के बजीर-ए-आलम भी इस विवाद में कूद पड़े। इमरान तो चार हाथ आगे बढ़ते हुए नसीरुद्दीन शाह मामले को जिन्ना से जोड़कर भारत-पाकिस्तान के बंटवारे तक जा पहुंचे। शनिवार को इमरान खान ने कहा, 'वह नरेंद्र मोदी सरकार को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसे व्यवहार किया जाता है।'

इमरान ने अपने बयान में कहा

शनिवार को पाकिस्तान में पंजाब सरकार की सौ दिन की उपलब्धियां गिनाने के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में इमरान खान ने कहा, ' उनकी सरकार पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों को उनके अधिकार सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रही है। यही पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना का भी विजन था।' इस दौरान वे अल्पसंख्यकों के नाम पर भारत को घेरने की कोशिश करते भी दिखे। उन्होंने भारत सरकार का जिक्र करते हुए कहा, 'हम मोदी सरकार को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसे व्यवहार किया जाता है। भारत में लोग कह रहे हैं कि अल्पसंख्यकों के साथ समान नागरिकों जैसा व्यवहार नहीं किया जा रहा है।'

नसीरुद्दीन के इस बयान पर खड़ा हुआ विवाद

गौरतलब है कि बुलंदशहर हिंसा पर दो दिन पहले बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने एक बयान दिया था, जिसने विवाद पैदा कर दिया है। उन्होंने कहा था कि उन्हें अपने बच्चों की फिक्र होती है कि कहीं किसी दिन कोई भीड़ उन्हें घेरकर यह न पूछे कि तुम्हारा धर्म क्या है। दरअसल, उन्होंने बुलंदशहर में गौहत्या के नाम पर उन्मादी भीड़ द्वारा इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या का जिक्र करते हुए यह बयान दिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस