नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। देश में मोदी सरकार के गठन की औपचारिक प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हो जाएगी। संसद के केंद्रीय कक्ष में भाजपा संसदीय दल और बाद में राजग संसदीय दल की बैठक में नरेंद्र मोदी को नेता चुना जाएगा। मंगलवार दोपहर 2:30 बजे पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलकर सरकार गठन का दावा कर देगा। फिर 3:15 बजे खुद भावी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे। संभवत: शपथ ग्रहण की तारीख और स्थल भी प्रस्तावित कर दिया जाएगा।

मोदी संभवत: 21 मई को गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देंगे। उससे पहले मंगलवार को ही उन्हें संसदीय दल का नेता चुनकर सरकार गठन की शुरुआत कर दी जाएगी। माना जा रहा है कि मोदी मंत्रियों के छोटे समूह के साथ शपथ लेंगे। इसका खाका भी तैयार हो गया है। सोमवार को दिन भर गुजरात भवन में नरेंद्र मोदी की नेताओं के साथ बैठकों का दौर चलता रहा। उधर संघ कार्यालय में भी नेताओं के जाने का तांता लगा रहा। गुजरात भवन में मोदी ने राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, अमित शाह, रामलाल समेत कई नेताओं से भावी सरकार के साथ-साथ संगठन और दिल्ली तथा बिहार की राजनीतिक स्थिति पर भी चर्चा की। गुरदासपुर के सांसद अभिनेता विनोद खन्ना ने भी मोदी से मुलाकात की। वहीं, दिल्ली स्थित संघ कार्यालय में अरुण जेटली और अमित शाह ने बैठक की।

बताते हैं कि दिल्ली और बिहार की राजनीतिक स्थिति पर भी लंबी चर्चा हुई। लेकिन भाजपा दोनों राज्यों में सब्र के साथ इंतजार करने के पक्ष में है। प्रदेश के नेताओं को भी इसका संकेत दे दिया गया है कि वह सरकार गठन करने जैसे बयानों से दूर रहें। शीर्ष नेताओं का मानना है कि कोई भी बेसब्री पार्टी की छवि के लिएच्अच्छा नहीं है। दिल्ली में वैसे भी तीन विधायक सांसद बन चुके हैं और पार्टी की संख्या 32 से घटकर 29 रह गई है जो बहुमत से सात कम है। बिहार में जदयू नया नेता चुनकर सरकार बनाने जा रही है। लिहाजा भाजपा अपनी ओर से कोई कवायद नहीं करना चाहती है।

इस बीच सूत्रों ने बताया कि औपचारिक रूप से भाजपा संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद मोदी को एसपीजी सुरक्षा मिल जाएगी। फिलहाल उन्हें जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। उनकी सुरक्षा में एनएसजी जवानों के साथ गुजरात पुलिस के 50 जवान तैनात हैं।

बढ़ने लगा समर्थन

अपने दम पर ऐतिहासिक जीत हासिल कर चुके नरेंद्र मोदी के समर्थन का आधार और बढ़ने लगा है। आंध्र प्रदेश में राजग सहयोगी तेदेपा के विरोधी वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख जगनमोहन रेड्डी ने भी मुद्दों पर आधारित समर्थन के लिए हाथ बढ़ा दिया है। जबकि नरेंद्र मोदी के बहुमत लाने की दशा में राजनीतिक संन्यास लेने की बात करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने भी फोन कर बधाई दी। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने पहले ही मोदी सेच्अच्छे संबंधों की आशा जता दी है।

राजनाथ से मिलने वालों का तांता

पत्‍‌नी और बेटे सहित राम विलास पासवान, पूनम महाजन, सतपाल सिंह, जगनमोहन, वसुंधरा राजे, रामकृपाल यादव, राजनाथ सिंह, योगी आदित्यनाथ, विनय कटियार, अर्जुन मुंडा, राव इंद्रजीत सिंह और वाइको।

सरकार गठन पर सिर्फ नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह चर्चा कर रहे हैं। बाकी लोग चुनाव में जीत पर बधाई देने के लिए दोनों नेताओं के पास जा रहे हैं। - प्रकाश जावड़ेकर, भाजपा नेता

पढ़ें : मोदी के स्वागत के लिए तैयार है पाकिस्तान

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस