नई दिल्ली [जाब्यू]। मंगलयान की सफलता का जश्न संप्रग मनाती कि उससे पहले ही नरेंद्र मोदी की अगुआई में भाजपा ने इस मुद्दे पर मजमा लूटना शुरू कर दिया। संप्रग सरकार अपनी पीठ थपथपाए उससे पहले ही भाजपा ने मिशन मंगलयान का श्रेय वैज्ञानिकों को देकर खुद को आगे खड़ा करने की कोशिश की। हाल यह था कि इसरो की ओर से औपचारिक सूचना मिलने से पहले ही भाजपा के प्रधानमंत्री उम्मीदवार नरेंद्र मोदी और वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने इसे देश की सफलता करार दिया। जबकि ऐसे मामलों में सामान्यतया आधिकारिक रिपोर्ट आने के बाद प्रधानमंत्री ही सबसे पहले बधाई देते रहे हैं।

पढ़ें : राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व सोनिया गांधी ने मंगलयान पर वैज्ञानिकों को दी बधाई

अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में हुए पोखरण विस्फोट के लिए भाजपा अपनी सरकार की प्रशंसा करते नहीं थकती है। जबकि हर मोर्चे पर संप्रग को घेरने में भी नहीं चूकती। ऐसे में मंगलवार को मंगलयान ने उड़ान भरी तो मोदी ने पूरा श्रेय वैज्ञानिकों को दिया। ट्विटर पर भी सबसे पहले अपने संदेश के जरिये उन्होंने यह संकेत दे दिया कि वह देश की उपलब्धियों पर गर्व करने वालों में सबसे आगे हैं। कांग्रेस खेमे में भाजपा नेताओं की इस अधीरता पर अंदरखाने तो खिल्ली उड़ाई, लेकिन उन्हें बाद में समझ आया कि श्रेय लेने में देर हो रही है। इसीलिए, जल्दी से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बधाई दिलाई गई। इसके बाद केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने मंगलयान की सफलता के बहाने विपक्ष पर तंज का मौका जमा लिया। रॉकेट लांच के बाद तिवारी ने कहा कि संप्रग सरकार का लांचिंग पावर विपक्षी आलोचकों के लंग पावर से अधिक है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस