मुजफ्फरनगर, [अरशद आशू]। दंगे ने किसी मां के लाल को छीन लिया, तो किसी का सुहाग मिटा दिया। इस दंगे ने कई युवतियों के शादी के अरमान पर भी पानी फेर दिया। कल्याणपुर गांव में शरण लिए दो युवतियों का हाल बेहाल है। आंखों से बहते आंसू उनकी दास्तां बयां कर रहे हैं। इस दंगे ने उनकी शादी के अरमान पर पानी फेर दिया। अब वे दंगाइयों को कोस रही हैं।

फुगाना निवासी समीना व शौकीना कल्याणपुर में पनाह लिए हैं। दोनों गरीब परिवार से हैं और पिता मोबीन के साथ मजदूरी करती हैं। समीना व शौकीना ने बताया कि उनके परिजनों ने दोनों बहनों का रिश्ता कैराना में तय कर दिया था। परिवार में दस तारीख को बकरीद के बाद शादी की तारीख तय कर लाल खत (शादी की तिथि का पत्र) भेजने की तैयारी चल रही थी। परिवार के सभी सदस्यों ने मिलकर उनकी शादी के लिए दहेज इकट्ठा किया था, लेकिन दंगाइयों ने सात सितंबर को उनके घर में जमकर लूटपाट की। दहेज तो क्या घर का अन्य सामान भी नहीं छोड़ा, सब कुछ लूट लिया। परिजनों ने उन्हें किसी तरह कल्याणपुर पहुंचाया। इस दंगे ने उनकी शादी के अरमानों को तार-तार कर दिया।

इसी गांव के नौशाद पुत्र आजाद के घर में भी दंगाइयों ने सामान लूटकर आग लगा दी थी। नौशाद के अनुसार, उनके घर में दो बहन दिलशाना व गुलशाना की शादी की तैयारी चल रही थी। दिलशाना का रिश्ता सिसौली व गुलशाना का रिश्ता कैराना में तय किया गया था। नवंबर में दोनों की शादी होनी थी। घर में दोनों बहनों के लिए दहेज में जेवर से लेकर कपड़े व कीमती सामान रखा था, जिन्हें दंगाइयों ने लूट लिया। उन्होंने चंदसीना के मदरसे में शरण ली है।

ये लूटा गया सामान

समीना व शौकीना ने बताया कि दोनों बहनों के लिए सोने की एक-एक बालियों के सेट, लौंग व एक-एक अंगूठी, चांदी के दस्तबंद, पाजेब, एक एक सेट, चेन पैंडेंट, अंगूठी, सावन की झड़ी, कड़े, तांबे के सात सात बर्तन, कूकर, स्टील व प्लास्टिक के डिनर सेट, गैस के सिलेंडर व चूल्हे, दो कपड़े धोने की मशीन, दो सिलाई मशीनें और 11-11 जोड़ी लेडीज कपड़े भी खरीद कर रखे गए थे, जिन्हें दंगाई लूटकर ले गए।

नौशाद के अनुसार, दोनों बहनों के लिए सोने की लौंग, अंगूठी, हार, चांदी की पाजेब, झूमर, कंगन व दस्तबंद आदि जेवर था। सिलाई मशीन, क्राकरी आदि सामान था, जो दंगाई लूटकर ले गए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट