मुंबई, एजेंसी। महाराष्‍ट्र एटीएस ने विकास दुबे केस में गुड्डन त्रिवेदी को ठाणे क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। मारे गए गैंगस्‍टर विकास दुबे के करीबी दो लोगों को ठाणे से गिरफ्तार किया गया है। इनमें से एक गु्ड्डन त्रिवेदी विकास दुबे का करीबी है और दूसरा सोनू तिवारी। यह जानकारी महाराष्‍ट्र एटीएस ने दी है। 

गुड्डन त्रिवेदी पर था 25 हजार का इनाम

महाराष्ट्र एटीएएस ने बताया कि मुंबई पुलिस को एक गुप्त सूचना मिली थी की कानपुर एनकाउंटर मामले में एक आरोपी ठाणे में छिपा हुआ है। एटीएस जूहू यूनिट ने कोलशेट रोड पर छापा डालकर आरोपी अरविंद उर्फ 'गुड्डन रामविलास त्रिवेदी' और उसके ड्राइवर सोनू तिवारी को गिरफ्तार कर लिया। गुड्डन त्रिवेदी कि गिरफ्तारी को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने 25 हजार का इनाम रखा हुआ था।

गुड्डन त्रिवेदी और सोनू तिवारी हाल ही में उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में आठ पुलिसकर्मी और 2001 में राज्य मंत्री संतोष शुक्ला की हत्या में शामिल होने की बात कबूल की है। 

शुक्रवार को यूपी एसटीएफ की मुठभेड़ में मारा गया विकास दुबे

बता दें कि कानपुर में बिल्हौर सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की आठ दिन पहले अपने गांव बिकरू में अंधाधुंध गोलियां बरसाकर हत्या करने वाले दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को आठवें दिन ही पुलिस और एसटीएफ की टीम ने मार गिराया। पांच लाख रुपये इनामी हिस्ट्रीशीटर को गुरुवार सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया था। वहां से कोर्ट में पेशी के लिए लाते वक्त कानपुर शहर से पहले ही सचेंडी के पास विकास दुबे का एनकाउंटर कर दिया गया।

कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे को मारे जाने के बाद अब उत्तर प्रदेश एसटीएफ के साथ केंद्र सरकार के प्रवर्तन निदेशालय ने उसके काले कारोबार की जांच शुरू कर दी है। उसकी संपत्तियों के साथ ही उसके आकाओं और फाइनेंसर्स को भी अब खंगाला जाएगा।

यह भी पढ़ें: कंटाप लगने पर चिल्लाया था गैंगस्टर विकास, बोला- यूपी में होता तो तुम्हारे घर में आग लगवा देता...

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस