कोलकाता [जाब्यू]। तृणमूल सुप्रीमो व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की फेडरल फ्रंट में मुलायम सिंह यादव को शामिल करने की योजना नहीं है।

पिछले वर्ष राष्ट्रपति के चुनाव में एपीजे अब्दुल कलाम को उम्मीदवार बनाने पर ममता के साथ सहमति होने के बाद मुलायम ने जिस तरह पाला बदला और कांग्रेस उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी का समर्थन किया वह घटना ममता भूली नहीं हैं। ममता ने फेडरल फ्रंट बनाने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से बातचीत की है लेकिन वह मुलायम को अलग रख कर चल रही हैं।

तृणमूल कांग्रेस सांसद सुलतान अहमद ने कहा कि मुलायम की छवि साफ नहीं है। राष्ट्रपति चुनाव के समय मुलायम ने जो चाल चली उसे ममता भूली नहीं हैं। वह क्षेत्रीय दलों को लेकर मोर्चा बनाने के लिए सक्रिय हुई हैं लेकिन मुलायम सिंह को साथ रखने की उनकी योजना नहीं है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस