नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। ममता बनर्जी की नाराजगी का शिकार हुए पूर्व रेलमंत्री दिनेश त्रिवेदी की जगह मुकुल रॉय की रेल मंत्रालय में ताजपोशी होगी। शुरुआती असहमति के बावजूद प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह को ममता बनर्जी ने इसके लिए तैयार कर लिया है। मंगलवार की सुबह रॉय को कैबिनेट मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी।

पिछले कुछ दिनों से रेल मंत्री को लेकर उपजा विवाद सोमवार को खत्म हो गया। रविवार शाम को प्रधानमंत्री को भेजा गया दिनेश त्रिवेदी का इस्तीफा सोमवार को मंजूर हो गया। सोमवार की दोपहर ही ममता ने लोकसभा में पार्टी नेता सुदीप बंदोपाध्याय और विश्वस्त मुकुल रॉय के साथ संसद भवन परिसर में प्रधानमंत्री से मिलकर उन्हें राजी कर लिया। पूर्व में मुकुल के नाम पर प्रधानमंत्री को कुछ आशंकाएं थीं। यही कारण था कि पिछली बार मुकुल को रेल मंत्रालय में स्थापित करने की ममता की कोशिश नाकाम हो गई थी। और मजबूरी में दिनेश त्रिवेदी को यह पद सौंपना पड़ा था। इस बार मुकुल के नाम पर ममता अडिग थीं तो प्रधानमंत्री चाहते थे कि कम से कम रेल बजट पारित होने तक इंतजार किया जाए। लेकिन ममता ने उन्हें स्पष्ट कर दिया कि वह इससे सहमत नहीं हैं। बताते हैं कि उन्होंने राजग सरकार के काल में रेल बजट के दौरान मंत्रालय में हुए फेरबदल का उदाहरण देते हुए कहा कि उस वक्त उन्होंने रेल बजट पेश किया था, लेकिन संसद में जवाब नीतीश कुमार ने दिया था।

सूत्र बताते हैं कि सरकार ने तृणमूल से ही सुदीप बंदोपाध्याय को प्रोन्नत करने का भी प्रस्ताव दिया था, लेकिन ममता की जिद के सामने सरकार को झुकना पड़ा। सोमवार की शाम प्रधानमंत्री की ओर से राष्ट्रपति भवन को इसका प्रस्ताव भेज दिया गया था। माना जा रहा है कि भविष्य में जहाजरानी मंत्रालय में खाली हुई जगह पर तृणमूल से किसी महिला सांसद को शामिल कराने की कोशिश होगी।

मुलाकात के बाद पत्रकारों के सवालों के जवाब में ममता ने बैठक को संतोषप्रद बताते हुए कहा कि एनसीटीसी, रेल यात्री किराए में बढ़ोतरी जैसे सभी मुद्दों पर चर्चा हो गई है। किराए पर फैसला प्रधानमंत्री लेंगे। उन्होंने इसका भी परोक्ष संकेत दे दिया कि साधारण और स्लीपर क्लास के किराए को ठीक किया जाएगा।

इससे पहले संसद के सेंट्रल हाल में ममता ने सभी सांसदों के साथ बैठक की जिसमें त्रिवेदी भी मौजूद थे। बताते हैं कि वहां सभी सांसदों को संकेत दे दिया गया कि अनुशासन के मुद्दों पर किसी को नहीं बख्शा जाएगा। उन्होंने यह भी आगाह किया कि जनता से जुड़े मुद्दों पर सतर्क रहें।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस