शिवप्रताप सिंह जादौन, मुरैना। मध्य प्रदेश में बिजली बिल की बढ़ती बकाया राशि से परेशान बिजली विभाग मुरैना जिले में प्रशासन की मदद से नई रणनीति पर काम कर रहा है। इसमें शस्त्र लाइसेंस रखने वालों पर कार्रवाई की तैयारी है। इसके तहत बिजली का बकाया बिल नहीं चुकाने पर शस्त्र लाइसेंस रद कर दिया जाएगा। अधिकारियों का मानना है कि शस्त्र लाइसेंस रद होने के डर से लोग बिल की बकाया राशि जमा कर देंगे।

बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सीएमडी स्तर पर प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत हो चुकी है। बड़े बकायादारों को एडीएम स्तर से लाइसेंस निरस्त करने के नोटिस थमाए जाएंगे। प्रशासनिक अधिकारी बिजली बिल बकायादारों को नोटिस जारी करेंगे, जिसमें बकाया राशि चुकाने की बात कही जाएगी। बकाया राशि तय समय सीमा में जमा न करने पर ऐसे उपभोक्ताओं के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए जाएंगे। गौरतलब है कि मुरैना जिले में बिजली कंपनी का उपभोक्ताओं पर छह अरब रुपये से ज्यादा बकाया है।

धमकियों से भी होगा बचाव

बिजली कंपनी के महाप्रबंधक शिशिर गुप्ता ने बताया कि मुरैना जिले के लोगों को हथियारों का बहुत शौक है। इसलिए कंपनी अब इसी शौक को ही वसूली का हथियार बनाने जा रही है। इससे कंपनी को दो लाभ होंगे। पहला यह कि लाइसेंस निरस्त होने के डर से लोग बिल जमा कराएंगे। दूसरा लाभ कार्रवाई के दौरान बकायादार द्वारा हथियार की दम पर बिजली विभाग की टीम को दी जाने वाली धमकियों से बचाव होगा।

बिजल कंपनी के महाप्रबंधक शिशिर गुप्ता ने बताया कि प्रशासन के जरिये बकायादारों को शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने संबंधी नोटिस दिए जाएंगे। इसके लिए भोपाल से बिजली कंपनी के सीएमडी ने राजस्व अधिकारियों से बात की है। हमने बकायादारों की सूची बनाना शुरू कर दी है।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप