इंदौर, राज्‍य ब्‍यूरो। खुद को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का निजी सचिव (पीए) बताकर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को कॉल करने वाले आरोपित को इंदौर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने फोन कर नितिन गडकरी से दो परिवहन अधिकारियों (आरटीओ) के तबादले का आग्रह किया था। आरोपित मप्र के रीवा का सूचीबद्ध बदमाश है, उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। गुरुवार दोपहर पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम उसे दिल्ली ले गई।

मप्र के रीवा का सूचीबद्ध बदमाश निकला आरोपित, दिल्ली भेजा

इंदौर के डीआइजी हरिनारायणाचारी मिश्र के मुताबिक, आरोपित रीवा निवासी 28 वर्षीय अभिषेक द्विवेदी को बुधवार शाम ग्वालटोली क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था। उसके खिलाफ दिल्ली क्राइम ब्रांच पुलिस में प्रकरण दर्ज हुआ है।

दिल्ली पुलिस ने अफसरों को बताया कि अभिषेक ने पिछले दिनों मप्र के दो आरटीओ के तबादले के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री गडकरी को कॉल किया था। उसने खुद को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का पीए साकेत कुमार बताया था। कुमार 2009 बैच के बिहार कैडर के वरिष्ठ आइएएस अफसर हैं। जब गडकरी के कार्यालय से इस कॉल की गृह मंत्रालय में पुष्टि की गई तो पता चला कि किसी ने साकेत कुमार के नाम का दुरुपयोग किया है। दिल्ली पुलिस ने उक्त फोन का रिकॉर्ड निकाला तो वह रीवा के अभिषेक का निकला।

मुंबई से भागकर इंदौर आया

जिस वक्त दिल्ली पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली थी उस वक्त आरोपित अभिषेक की लोकेशन मुंबई की थी। पुलिस वहां पहुंची तो आरोपित भाग कर इंदौर आ गया। डीसीपी (दिल्ली) राजेश देव ने क्राइम ब्रांच एएसपी राजेश दंडोतिया को उसकी लोकेशन बताई। उस निशानदेही पर उसे इंदौर के ग्वालटोली क्षेत्र स्थित एक होटल से पकड़ लिया गया। अभिषेक यहां ठहरा हुआ था। उस पर हत्या-वसूली के केस दर्ज हैं। एएसपी दंडोतिया के मुताबिक आरोपित को दिल्ली पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है। अभिषेक पर रीवा में हत्या, वसूली के करीब 12 मामले दर्ज हैं।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021