नई दिल्ली, एएनआइ। Amarnath Yatra 2019 रोके जाने के बाद जम्मू-कश्मीर से तेजी से तीर्थयात्री और सैलानी राज्य से बाहर भेजे जा रहे हैं। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने शनिवार शाम यात्रियों का आंकड़ा साझा किया है। एयरपोर्ट अथॉरिटी के अनुसार घाटी छोड़ने वालों में 6126 यात्रियों ने श्रीनगर से बाहर की यात्रा की है। इनमें से 5829 यात्री 32 शेड्यूल फ्लाइट्स के जरिए रवाना हुए हैं। वहीं, 387 यात्री भारतीय वायुसेना के 4 विमानों में रवाना हुए हैं। 

एयरपोर्ट अथॉरिटी ने बताया कि श्रीनगर में सभी यात्रियों की सुरक्षा के लिए श्रीनगर एयरपोर्ट ने पूरा सहयोग दिया है। सभी यात्रियों को घाटी से एक व्यवस्थित तरीके से रवाना किया गया। भारतीय वायुसेना, जम्मू कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ, बीएसएफ, स्थानीय प्रशासन, एयरलाइन और एएआई अधिकारियों के साथ मिलकर यह काम काफी अच्छे ढंग से किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: आसमान में पहुंचा श्रीनगर से उड़ने वाली फ्लाइटोंं का किराया, जानें कितना आया कीमतों में उछाल

बता दें कि सुरक्षा एजेंसियों ने अमरनाथ यात्रा पर बड़े पैमाने पर आतंकी हमले की साजिश का पर्दाफाश किया था। खतरे की गंभीरता को देखते हुए जम्मू-कश्मीर सरकार ने तीर्थयात्रियों समेत सभी पर्यटकों को जल्द-से-जल्द वापस लौटने की सलाह दी है। जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ और सेना ने श्रीनगर में संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर बताया था कि किस तरह अमरनाथ यात्रा के रास्ते से बड़ी मात्रा में हथियार, आइईडी और स्नाइपर राइफल बरामद किया गया है।

गौरतलब है कि कश्मीर में आतंकियों के सफाए में सुरक्षा बलों को मिल रही सफलता के बाद पाकिस्तान की बेसब्री बढ़ गई है। पाकिस्तान की ओर से लगातार आतंकियों के घुसपैठ और हमले की कोशिश जारी है। कश्मीर पुलिस के आइजी एसपी पाणी के अनुसार पिछले कुछ महीने में 10 आइईडी हमले की साजिश को नाकाम किया गया है। इस दौरान आइईडी बनाकर विस्फोट करने वाले पांच माड्यूल का पर्दाफाश कर उससे जुड़े कई आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप