रायपुर, राज्‍य ब्‍यूरो। छत्‍तीसगढ़ में कोरोना वायरस से मौत के मामलों की सही जानकारी नहीं देने पर स्वास्थ्य विभाग के अफसर फंस गए हैं। स्वास्थ्य संचालक ने कोरबा मुख्य जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को नोटिस थमाया है। वहीं सभी जिलों को कोरोना से होने वाली मौत के आंकड़ों की जानकारी 24 घंटे में देने के लिए निर्देशित किया है। ज्ञात हो कि कोरबा जिले में कोरोना संक्रमण से 119 लोगों की मौत होने की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है, लेकिन जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से अगस्त से अब तक की 60 से अधिक मौत की जानकारी नहीं दी गई है। इसके चलते राज्य की ओर से जारी किए जा रहे आंकड़े में इतनी संख्या का अंतर है। 

स्वास्थ्य संचालक ने कोरबा सीएमएचओ को थमाया नोटिस

इसे लेकर जिला सीएमएचओ को कई बार पत्र लिखने और निर्देश देने के बाद भी कोरोना के आंकड़ों को समय पर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। इधर, राज्य द्वारा रोजाना जिले की आडिट रिपोर्ट तैयार की जाती है। इसमें अंतर आने के बाद विभागीय कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं। स्वास्थ्य संचालक नीरज बंसोड़ ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। समय पर सही जानकारी नहीं देने पर उन्होंने कार्रवाई करने की बात कही है।

नोटिस के बाद इन जिलों से बदली शैली

अधिकारियों ने बताया कि आडिट रिपोर्ट में गड़बड़ी को लेकर दुर्ग, जांजगीर-चांपा और रायगढ़ के मुख्य जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया था। इसके बाद इन जिलों द्वारा कोरोना संक्रमण और मौत के मामलों की पुरानी जानकारी दी गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक कोरोना संक्रमण से मरीज की मौत होने पर जिले से डेथ इंवेस्टिगेशन फार्म भरकर 24 घंटे के भीतर स्वास्थ्य विभाग को जानकारी उपलब्ध कराना जरूरी है।

प्रदेश के इन जिलों में कोरोना से सबसे अधिक मौत

जिला - मौत

रायपुर - 764

दुर्ग - 609

रायगढ़ - 301

जांजगीर-चांपा - 226

राजनांदगांव - 178

राज्य कोरोना नियंत्रण के नोडल अधिकारी डा. सुभाष मिश्रा ने कहा कि कोरोना संक्रमित की मौत के 24 घंटे के भीतर सभी जिलों को डेथ इंवेस्टिगेशन फार्म भरकर उसी दिन जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। कोरबा के 60 से अधिक मौत के मामलों की जानकारी अब तक नहीं मिल पाई है। उसके लिए सीएमएचओ को विभाग ने नोटिस भेजा है।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप