नई दिल्‍ली, आइएएनएस। जेट एयरवेज के बंद हो जाने से दुबई जाने और आने वाले यात्रियों के माथे पर जो परेशानी की लकीरें उभर आई थीं उसे मिटाने के लिए एयर इंडिया आगे आई है। जेट एयरवेज के बंद होने से बढ़ी परेशानियों को कम करने के लिए एयर इंडिया ने दिल्‍ली-दुबई, मुंबई-दुबई और दिल्‍ली-मुंबई के व्‍यस्‍ततम मार्ग पर अपनी सेवा बढ़ाने का फैसला किया है। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की मुश्किलें कम करने के लिए सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया ने यह कदम उठाया है।

भारत-दुबई को सबसे अधिक लाभदायक और आकर्षक सेक्‍टर के तौर पर लिया जाता है और इसलिए इस रुट पर बिजनेस व घूमने के लिहाज से हमेशा डिमांड काफी अधिक होती है। B787 एयरप्‍लेंस का उपयोग करते हुए जून के पहले सप्‍ताह में नई उड़ानों को लांच किया जाएगा। नई उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू हो गई है। एक अधिकारी ने बताया, ‘दुबई की उड़ानों को सरकार द्वारा हाल ही में दिए गए अतिरिक्त विदेशी उड़ान अधिकारों का उपयोग कर शुरू किया जाएगा।’

प्राइवेट करियर की जगह एयर इंडिया को तरजीह देते हुए नागरिक विमानन मंत्रालय ने एयरलाइन को करीब 5,700 साप्‍ताहिक सीटें आवंटित करने का फैसला इस सप्‍ताह के शुरुआत में ही ले लिया था। साथ ही एयरलाइन को भारत-कतर रुट पर भी 5,000 सीटें व लंदन आने-जाने के लिए करीब 4,600 अतिरिक्‍त सीटें देने का वादा किया गया था।

बता दें कि फिलहाल डोमेस्‍टिक मार्केट में एयर इंडिया का 13.1 फीसद मार्केट शेयर है। इस साल मार्च महीने में 15.19 लाख यात्रियों ने इस एयरलाइन के जरिए सफर किया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Monika Minal