जेएनएन, कोलकाता:  आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत अपनी हाल की कोलकाता यात्रा के समय मशहूर शास्त्रीय संगीतकार उस्ताद राशिद खान के घर गए और इस दौरान उन्होंने खान से 'याद पिया की आए' सुनाने की फरमाइश की, जिसे वह मना नहीं कर सके। 

आपको बता दें कि संघ प्रमुख मोहन भागवत कोलकाता में 20 से 25 दिसंबर तक थे। इस दौरान उन्होंने कई उद्योगपतियों, बुद्धिजीवियों, खेलकूद से जुड़ी हस्तियों और विद्वानों से मुलाकात की। उन्होंने 22 दिसंबर को राशिद खान से नाकतल्ला स्थित उनके घर पर मुलाकात की।

भागवत और संघ के कई कार्यकर्ताओं ने राशिद खान के घर पर कई मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। इसमें राजनीतिक फैसलों, जीएसटी और संगीत से जुड़े कई मसलों पर चर्चा की गई। चर्चा के बाद भागवत ने शास्त्रीय संगीतकार उस्ताद राशिद खान को नागपुर में होने वाले संघ के कार्यक्रम में शिरकत करने का निमंत्रण भी दिया।

चाय के दौरान खान ने संगीत कार्यक्रम के आयोजन पर 18 प्रतिशत जीएसटी लगाए जाने का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने भागवत से इस मुद्दे को सरकार के सामने उठाने की भी बात कही। राशिद खान ने कहा, यह एक सुखद क्षण था जब मैं मोहन भागवत से मिला। वह एक अद्भुत व्यक्ति हैं और हमारी बातचीत के दौरान मैंने उन्हें संगीत कार्यक्रम के आयोजकों के लिए 18 फीसद जीएसटी हटाने का अनुरोध किया। यह अंतत: संगीतकारों को प्रभावित कर रहा है।

उन्होंने मुझसे वादा किया कि वह इस मामले पर विचार करेंगे। संगीत वादक ने कहा कि भागवत ने उन्हें नागपुर में एक आरएसएस समारोह में आमंत्रित किया है। मैंने उनसे वादा किया है कि मैं वहां रहूंगा। मैं उनके प्रेरक विचारों से बहुत प्रभावित हूं।

जब उनसे पूछा गया कि क्या मोहन भागवत ने आपसे गाना गाने का अनुरोध किया तो उन्होंने कहा, संगीत हमारी बातचीत का आधार था और मैंने उन्हें 'याद पिया की आए' सुनाया। वह एक संगीत प्रेमी हैं और वह मेरी आवाज सुनकर बहुत खुश थे। यह मेरा सम्मान था कि वह मेरे घर आए। उत्तर प्रदेश के बदायूं में जन्मे उस्ताद राशिद खान एक शास्त्रीय संगीतकार हैं। वे 2006 में पद्म श्री, साथ ही साथ संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित हैं।

Posted By: Sachin Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप