नई दिल्ली/ लंदन, प्रेट्र। खाड़ी में तनाव के बीच होर्मुज के स्ट्रेट(Strait of Homruz) में ब्रिटिश तेल टैंकरों को ईरान द्वारा जब्त कर लिया गया है। इन तेल टैंकर में पकड़े गए एक टैंकर के अंदर 23 क्रू मेंबर में से 18 भारतीय नागरिक हैं। एक जानकारी के मुताबिक कब्जे में लिए गए एक जहाज में 23 क्रू मेंबर हैं, जिनमें 18 भारतीय मूल के नागरिक भी शामिल हैं। अधिकारियों के अनुसार अभी तक यह तय नहीं है कि जहाज पर कितने क्रू मेंबर भारतीय हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि, हम आगे की जानकारी का पता लगा रहे हैं। हमारा मिशन भारतीय नागरिकों की शीघ्र रिहाई है। प्रत्यावर्तन को सुरक्षित करने के लिए हम ईरान सरकार के साथ लगाताक संपर्क में है। 18 भारतीय और पांच चालक दल के सदस्य रूस, फिलिप, लात्विया और अन्य देशों से हैं।कप्तान भारतीय है, लेकिन टैंकर ब्रिटेन का है।

ईरान के कब्जे में ब्रिटिश तेल टैंकर
इससे पहले शुक्रवार को ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने घोषणा की कि उन्होंने 'अंतरराष्ट्रीय समुद्री नियमों' को तोड़ने के लिए होर्मुज़ के स्ट्रेट (Strait of Homaruz) में एक ब्रिटिश टैंकर को जब्त कर लिया है।ब्रिटेन की ओर से ईरान के इस दावे की पुष्टि की गई है, साथ ही ब्रिटेन ने ईरान को उनके तेल के टैंकर को न छोड़ने पर गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी है। ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की आधिकारिक वेबसाइट Sepahnews के अनुसार, Stena Impero टैंकर Hormozgan Ports और समुद्री संगठन के अनुरोध पर रिवोल्यूशनरी गार्ड्स द्वारा जब्त किया गया, जब वह अंतरराष्ट्रीय समुद्री नियमों का सम्मान न करते हुए वह स्ट्रेट से गुजर रहा था।'

ब्रिटेन की ओर से ईरान के इस दावे की पुष्टि की गई है। यूरोन्यूज की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन ने कहा, एक ब्रिटिश झंडे वाला तेल टैंकर और ब्रिटेन से जुड़े एक अन्य जहाज को शुक्रवार को स्ट्रेट ऑफ होर्मुज में जब्त कर लिया गया। ब्रिटेन के विदेश सचिव जेरेमी हंट ने कहा, 'शुक्रवार को स्ट्रेट ऑफ होर्मुज में ब्रिटेन से जुड़े एक टैंकर और यूके से जुड़े एक अन्य जहाज को जब्त किया गया है।'

Posted By: Shashank Pandey