राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। अनंतनाग विधानसभा उपचुनाव में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के हिलाल अहमद शाह को 12,085 वोटों के अंतर से हराकर जीत दर्ज की। महबूबा को 17,701 और हिलाल को 5,616 वोट मिले। इस सीट के लिए 22 जून को मतदान हुआ था। कुल आठ उम्मीदवार मैदान में थे और 84,081 मतदाताओं में से 29,084 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। यानी 33.84 प्रतिशत मतदान हुआ था।
साल 2014 में अनंतनाग सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद को 16,983, हिलाल शाह को 10,955 और नेकां के इफ्तिखार मिसगर को 24,03 वोट मिले थे। कांग्रेस उम्मीदवार हिलाल अहमद शाह को इस बार भी मजबूत उम्मीदवार माना जा रहा था, लेकिन उन्हें छह हजार से भी कम वोट मिले, जबकि पिछली बार मुफ्ती से उनकी हार का अंतर मात्र 6028 वोटों का था। महबूबा मुफ्ती की जीत के वोटों का अंतर वर्ष 2014 में अपने पिता मुफ्ती मुहम्मद सईद की जीत के अंतर से लगभग दोगना है।
कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शनिवार सुबह डिग्री कॉलेज में वोटों की गिनती शुरू हुई और दोपहर 12 बजे संपन्न हो गई। महबूबा मुफ्ती ने शुरू से ही अपने विरोधियों पर बढ़त बनाए रखी। पहले दौर की गिनती में पीडीपी को तीन, कांग्रेस को एक, नोटा को पांच वोट मिले, जबकि नेशनल कांफ्रेंस समेत अन्य के पक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा। दस चक्रों में वोटों की गिनती संपन्न हुई। पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद के सात जनवरी को हुए निधन के बाद से यह सीट खाली थी।
किसे कितने वोट मिले
-महबूबा मुफ्ती (पीडीपी) :17,701 हिलाल अहमद शाह(कांग्रेस): 5,616
-इफ्तिखार मिसगर (नेकां) : 2,811
-मुजीब-उर-रहमान (निर्दलीय):642
-मंजूर खान (निर्दलीय) : 541
-मुश्ताक शाह (निर्दलीय) : 333
-तेजेंद्र सिंह (निर्दलीय) : 240
-मसरुर अहम (निर्दलीय) : 209
-नोटा :365

गिनती में व्यवधान, कांग्रेस ने लगाया धांधली का आरोप
अनंतनाग में सुबह कुछ देर के लिए वोटों की गिनती में व्यवधान पड़ा। अशाजीपोरा इलाके की वोटिंग मशीनों में से एक मशीन की सील खुली होने पर कांग्रेस प्रत्याशी हिलाल अहमद शाह ने कड़ा एतराज जताया। उन्होंने जिला उपायुक्त अनंतनाग से इसकी शिकायत करते हुए गड़बड़ी का आरोप लगाया। जबरदस्त तूतू-मैंमैं के दौरान जिला उपायुक्त ने कथित तौर पर उन्हें चुप होने की ताकीद करते हुए कहा कि अगर वह शांत नहीं हुए तो उन्हें पीएसए के तहत बंद कर दिया जाएगा।

इसके बाद हिलाल व उनके समर्थकों ने नारेबाजी करते हुए मतगणना केंद्र के बाहर धरना दिया। उनके साथ नेकां के अलावा निर्दलीय उम्मीदवार भी कुछ देर धरने पर बैठे। इसके बाद सभी वहां से चले गए। हिलाल अहमद शाह ने वोटिंग मशीनों की सील खुली होने का दावा करते हुए कहा कि वह इस मामले की शिकायत केंद्रीय चुनाव आयेाग से करेंगे। उन्होंने कहा कि पीडीपी ने सत्ता में होने का फायदा उठाते हुए वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी की है।

Posted By: Rajesh Kumar