शिलांग, प्रेट्र। मेघालय सरकार ने स्कूली बच्चों के बस्ते के वजन का तय कर दिया है। साथ ही कक्षा एक और दो में पढ़ने वाले बच्चों को दिए जाने वाले होम वर्क पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्रमुख शिक्षा सचिव डीपी वाहलांग ने बताया, 'स्कूली बस्ते के वजन का निर्धारण केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के दिशानिर्देशों के मुताबिक हैं, जिसमें बस्ते के वजन से बच्चों की सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव पर चिंता जताई गई है।

विभाग ने बस्तों का जो वजन तय किया है, उसके मुताबिक कक्षा एक और दो में पढ़ने वाले बच्चों के बस्ते का वजन 1.5 किलोग्राम से अधिक नहीं होना चाहिए। कक्षा तीन से कक्षा पांच तक की बात करें तो यह सीमा तीन किलोग्राम तय की गई है।

कक्षा छह और सात के बस्ते का वजन चार किलोग्राम तो कक्षा आठ और नौ के बस्ते का वजन 4.5 किलोग्राम से अधिक नहीं होना चाहिए। दसवीं कक्षा के लिए यह सीमा पांच किलोग्राम निर्धारित की गई है। शासनादेश में यह भी कहा गया है कि स्कूल यह सुनिश्चित करें कि बच्चे केवल वही कापी और किताबें अपने स्कूल लाएं जिनका उल्लेख टाइमटेबल में किया गया है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप