नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत ने सोमवार को मीडिया की उन खबरों को भ्रामक करार दिया जिसमें कहा गया है कि मालदीव को निर्यात किए जाने वाले आवश्यक वस्तुओं (जैसे- आलू, प्याज) में कमी कर दी गई है। भारत का कहना है कि मालदीव की जरूरतों का आकलन पिछले कुछ समय में उनके वास्तविक उपभोग के आधार पर किया जाता है। इसके अलावा दोनों देशों के बीच 1981 में हुए व्यापार समझौते का पूरी तरह पालन किया जा रहा है।

उक्त खबरों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत दोनों देशों के लोगों के बीच मजूबत संबंधों के लिए प्रतिबद्ध है और वह यह सुनिश्चित करेगा कि मालदीव के लोगों को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। मालूम हो कि मालदीव के साथ संबंधों में उस वक्त तनाव आ गया था जब भारत ने अब्दुल्ला यामीन सरकार द्वारा लगाए गए 45 दिन के आपातकाल की निंदा की थी।

 

By Manish Negi