लखनऊ । बिहार में सियासी ड्रामे को लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि राज्य में सत्ता पाने के लिए भाजपा ने पर्दे के पीछे से घिनौना खेल खेला। बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि महादलित जीतनराम मांझी को समर्थन कर और नीतीश कुमार को सत्ता से दूर रखने के लिए पार्टी ने हर तरह के हथकंडे अपनाए। जिसके चलते बिहार राजनीतिक अस्थिरता के दौर में चला गया।

मायावती जो स्वयं दलित वर्ग से आती हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के इस गंदे खेल से राज्य में सामाजिक और राजनीतिक माहौल खराब हुआ ही है। साथ ही देश भर में एक गलत संदेश गया है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्दे के पीछे से जो भी खेल हुआ उसके पीछे भाजपा की मंशा इस साल होने विधानसभा चुनाव में राजनीतिक फायदा लेना है।

59 वर्षीय मायावती ने कहा कि भाजपा ने दलित समुदाय की भलाई के लिए कुछ नहीं किया है। बीएसपी अध्यक्षा ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि सही मायनों में भाजपा दलितों की शुभचिंतक है तो अबतक केंद्र सरकार में खाली पड़े पदों की भर्ती प्रक्रिया की शुरुआत क्यों नहीं की। मायावती ने केंद्र सरकार और राज्यपाल पर निशाना साधा कि उन्होंने 'हॉर्स ट्रेडिंग' के लिए पूरी छूट दी थी। राज्य में विधायकों को पद और पैसे का लालच दिया गया कि जिसके लिए वे पूरी तरह से जिम्मेदार हैं ।

पढ़ें :

मांझी के इस्तीफे के बाद बीजेपी ने नीतीश पर बोला हमला, लगाए कई आरोप

जुगाड़ टेक्नोलॉजी से सरकार बचाना चाहते थे मांझी: नीतीश

Edited By: Test2 test2